प्रयागराज दलित हत्याकांड मामले की पुलिस ने सुलझा ली गुत्थी, पकड़ा गया आरोपी

प्रयागराज दलित हत्याकांड मामले की पुलिस ने सुलझा ली गुत्थी, पकड़ा गया आरोपी
प्रतिरूप फोटो

एडीजी के मुताबिक महिला से दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है, लेकिन कितने लोगों द्वारा यह गणित कार्य किया गया है। इसके लिए मेडिकल ओपिनियन पोस्टमार्टम पैनल द्वारा ली गई है।

लखनऊ। प्रयागराज दलित हत्याकांड में पुलिस ने पवन सरोज नामक एक युवक को गिरफ्तार करके हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है। पुलिस के अनुसार पवन सरोज 30 साल का है वह पढ़ा लिखा नहीं है, प्रयागराज जोन के एडीजी ने बताया कि आरोपी पवन मृतक की ही जाति का है इसलिए पोक्सो एक्ट की धारा हटा दी गई है।

इसे भी पढ़ें: किसानों ने लूटी खाद, पुलिस ने की लाठीचार्ज, वीडियो हुआ वायरल 

पुलिस के बयान के मुताबिक पवन पीड़ित परिवार के  घर से 1 किलोमीटर दूर ईट भट्टे के पास रहता था। वह मृतक लड़की से एक तरफा मोहब्बत करता था। और उसे मैसेज भी भेजता रहता था। उसी ने लड़की को आखरी बार मैसेज भेजा था। यह सारे राज  तब खुले जब पुलिस ने मृतक लड़की के मोबाइल की जांच की।

एडीजी के मुताबिक महिला से दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है, लेकिन कितने लोगों द्वारा यह गणित कार्य किया गया है। इसके लिए मेडिकल ओपिनियन पोस्टमार्टम पैनल द्वारा ली गई है।  डॉक्टरों ने बताया कि महिला के प्राइवेट पार्ट्स में इंजरी पाई गई है। उन्होंने कहा कि मृतक लड़की बालिक है उसके मोबाइल से मिले डॉक्यूमेंट के आधार पर उसका जन्म दिवस 4 जून 1996 है।

इसे भी पढ़ें: संसद भवन पर खालिस्तानी झंडा फहराने की साजिश, दिल्ली पुलिस ने अलर्ट जारी किया 

 एडीजी के अनुसार मृतक लड़की की मां को भी मारा गया है, लेकिन उसके साथ बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है। पकड़े गए आरोपी के शरीर पर कुछ चोट के निशान मिले हैं उसके शर्ट पर कुछ निशान है जिसे वह पान का निशान बता रहा है। लेकिन देखने में वह खून के निशान लग रहे हैं। एडीजी ने बताया कि आरोपी के कपड़े और अन्य सबूत को कलेक्ट कर के  लैब भेजा गया है। जहां से डीएनए प्रोफाइलिंग के बाद यह मामला पूरी तरह साफ हो जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।