Shraddha Murder Case में पुलिस को मिला मानव जबड़ा, जांच के लिए दंत चिकित्सक की लेगी मदद

shraddha murder
ANI Image
श्रद्धा वालकर के अवशेषों को खोज रही दिल्ली पुलिस ने एक मानव जबड़ा बरामद किया है। इस जबड़े की जांच कराने के लिए दिल्ली पुलिस दंत चिकित्सक की भी मदद लेगी। बता दें कि जांच में जुटी पुलिस को एक वन क्षेत्र से खोपड़ी के कुछ हिस्से बरामद हुए है।

नयी दिल्ली। श्रद्धा वालकर के अवशेषों को खोज रही दिल्ली पुलिस ने एक मानव जबड़ा बरामद किया है एवं यह पता लगाने के लिए यहां एक दंत चिकित्सक से संपर्क किया है कि क्या यह जबड़ा पीड़िता का ही है। दंत चिकित्सक ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि वह किसी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले और जानकारी चाहते हैं।

उन्होंने कहा, पुलिस आज आई थी। उनके पास जबड़े की एक तस्वीर थी जिसे उन्होंने तलाशी के दौरान बरामद किया। मैंने उनसे मुंबई के उस डॉक्टर से एक्स-रे लेने को कहा, जिसने रूट कैनाल उपचार (आरसीटी) के लिए पीड़िता का इलाज किया था। बिना एक्स-रे के, इसकी पहचान मुश्किल है। दिल्ली पुलिस ने रविवार को एक वन क्षेत्र से खोपड़ी के कुछ हिस्से और कुछ हड्डियां बरामद की थी। इसी के साथ दक्षिण दिल्ली के मैदानगढ़ी इलाके में एक तालाब से पानी निकाला जा रहा है।

जांच में सामने आई बड़ी बात
श्रद्धा वालकर की हत्या के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला के पिता अमीन पूनावाला ने पिछले महीने मीरा रोड इलाके की एक इमारत में किराए पर फ्लैट लेते समय आफताब के बारे में ज्यादा जानकारी साझा नहीं की थी। इमारत में फ्लैट दिलाने वाले एक रियल एस्टेट एजेंट ने सोमवार को यह दावा किया। डेल्टा गार्डन कॉम्प्लेक्स में फ्लैट तलाशने में अमीन पूनावाला की मदद करने वाले रियल एस्टेट एजेंट ने बताया कि अमीन शुरू में एक बीएचके (बेडरूम, हॉल और किचन) फ्लैट चाहते थे, लेकिन बाद में उन्होंने अपना मन बदल लिया और किराए पर 2 बीएचके फ्लैट लिया। रियल एस्टेट एजेंट ने कहा कि अमीन पूनावाला ने फ्लैट के अंधेरी स्थित मालिक को बताया कि फ्लैट में उनके परिवार के तीन सदस्य, वह, उनकी पत्नी मुनीरा और उनका बेटा अहद रहेंगे। उन्होंने मालिक से कहा कि उनका दूसरा बेटा (आफताब) उनके साथ नहीं, कहीं अलग रह रहा है। इसके अलावा, उन्होंने आफताब के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की। पूनावाला का परिवार पालघर जिले के वसई में किराये के फ्लैट के बाद अक्टूबर में नयी जगह स्थानांतरित हुआ था। पुलिस ने कहा था कि हालांकि उनसे संपर्क नहीं हो पाया और मीरा रोड में फ्लैट बंद मिला। एजेंट ने कहा, ‘‘अमीन पूनावाला ने फ्लैट किराये पर लेते समय अपना आधार कार्ड, पैन कार्ड और अन्य विवरण स्थानीय पुलिस स्टेशन में जमा कराया था। अनिवार्य पुलिस सत्यापन के बाद उन्हें फ्लैट का कब्जा सौंपा गया।’’ एजेंट ने कहा कि अमीन पूनावाला ने किरायेदार का पंजीकरण कराने के बादफ्लैट के लिए ब्रोकरेज और एक महीने के किराये का ऑनलाइन भुगतान किया। एजेंट ने कहा कि उन्होंने (अमीन ने) एक बार मुझसे कहा था कि वह उपनगरीय मलाड में एक टाइल निर्माण कंपनी में काम करते हैं, जबकि उनके बेटे (अहद) को हाल में मुंबई में नौकरी मिली थी। वे अच्छे स्वभाव के लग रहे थे। हम आफताब के बारे में जानकर हैरान हैं। एजेंट ने कहा कि उसने और डेल्टा गार्डन सोसाइटी के सदस्यों ने अमीन पूनावाला द्वारा जमा किए गए दस्तावेज स्थानीय पुलिस को उपलब्ध कराए हैं। सोसाइटी के एक सदस्य ने कहा था कि 28 वर्षीय आफताब अपने परिवार के सदस्यों को मुंबई स्थानांतरित करने में मदद करने के लिए करीब 20 दिन पहले वसई में आवासीय सोसाइटी आया था। आफताब को 12 नवंबर को दिल्ली पुलिस ने दक्षिणी दिल्ली के महरौली इलाके में किराये के अपने फ्लैट में श्रद्धा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया। पुलिस ने कहा था कि आफताब ने श्रद्धा के शव के करीब 35 टुकड़े किए जिसे उसने घर पर 300 लीटर के फ्रिज में लगभग तीन सप्ताह तक रखा और फिर उन्हें विभिन्न हिस्सों में कई दिनों तक फेंकता रहा 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़