• कांग्रेस में जाने की अटकलों के बीच सक्रिय भूमिका से अस्थायी तौर पर ब्रेक लेना चाहते हैं प्रशांत किशोर

इसी साल मार्च के महीने में प्रशांत किशोर अमरिंदर सिंह के प्रधान सलाहकार बने थे। इसी के साथ उन्हें कैबिनेट मंत्री पद का दर्जा भी दिया गया था। लेकिन आगामी विधानसभा चुनाव से पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया है।

नयी दिल्ली। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के प्रधान सलाहकार के पद से इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर ने कांग्रेस में शामिल होने के लिए राष्ट्रीय भूमिका निभाने की शर्त रखी है। हालांकि पार्टी अध्यक्षा सोनिया गांधी इस पर जल्द ही कोई निर्णय ले सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस में राष्ट्रीय भूमिका चाहते हैं प्रशांत किशोर, सोनिया गांधी जल्द करेंगी फैसला ! 

इसी साल मार्च के महीने में प्रशांत किशोर अमरिंदर सिंह के प्रधान सलाहकार बने थे। इसी के साथ उन्हें कैबिनेट मंत्री पद का दर्जा भी दिया गया था। लेकिन आगामी विधानसभा चुनाव से पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। ऐसे में अमरिंदर सिंह की चुनावी रणनीतियों कौन तैयार करेगा ? इस पर संशय बना हुआ है।

प्रशांत किशोर ने अमरिंदर सिंह को पत्र लिखा। जिसमें उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जीवन में सक्रिय भूमिका से मैं अस्थायी तौर पर ब्रेक लेने का फैसला किया है। ऐसे में मैं प्रधान सलाहकार की जिम्मेदारी को नहीं उठा सकता हूं। हालांकि भविष्य में मैं क्या करूंगा अभी यह तय करना बाकी है। ऐसे में मैं आपसे दरख्वास्त करता हूं कि मुझे इस जिम्मेदारी से मुक्त करें। 

इसे भी पढ़ें: प्रशांत किशोर के लिए कांग्रेस की राह कितनी आसान ? क्या जी-23 के नेता कर पाएंगे स्वीकार ? 

आपको बता दें कि प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें जारी हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ 23 जुलाई को की गई बैठक में प्रशांत किशोर से जुड़ा हुआ मुद्दा उठाया था। इस बैठक में एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, कमलनाथ, केसी वेणुगोपाल समेत कई नेता मौजूद थे।