पवार की मौजूदगी में NCP यूथ विंग ने पास किया प्रस्ताव, क्या अब खुद ही संभालना चाहते हैं UPA की कमान?

पवार की मौजूदगी में NCP यूथ विंग ने पास किया प्रस्ताव, क्या अब खुद ही संभालना चाहते हैं UPA की कमान?

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की युवा शाखा ने यूपीए अध्यक्ष पद के लिए राकांपा प्रमुख शरद पवार के नाम की सिफारिश करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है। यूपीए के अध्यक्ष का पद वर्तमान में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी के पास है। एनसीपी यूथ विंग की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सर्वसम्मति से प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

पीएम मोदी के खिलाफ बिखरे विपक्ष को एकजुट करने की ताकत शरद पवार में है? शिवसेना की तरफ से इस तरह की बातें अक्सर कभी मुखपत्र सामना के जरिये, कभी उनके नेताओं के बयान के जरिये सामने आती रहती है। लेकिन हमेशा एनसीपी सुप्रीमो की तरफ से ही इस तरह की बातों से इनकार करते रहे हैं। लेकिन अब कुछ ऐसा हुआ है जिसके बाद ये कयास लगाए जाने लगे हैं कि शरद पवार संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) की कमान खुद अपने हाथों में लेना चाहते हैं। दरअसल, तमाम अटकलों के पीछे की वजह है एनसीपी की यूथ विंग की तरफ से एक प्रस्ताव का पास किया जाना। जिसमें शरद पवार को यूपीए का अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की गई है। 

पवार की मौजूदगी में प्रस्ताव पारित 

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की युवा शाखा ने यूपीए अध्यक्ष पद के लिए राकांपा प्रमुख शरद पवार के नाम की सिफारिश करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है। यूपीए के अध्यक्ष का पद वर्तमान में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी के पास है। एनसीपी यूथ विंग की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सर्वसम्मति से प्रस्ताव को मंजूरी दी गई, जहां देश भर से 100 से अधिक प्रतिनिधि मौजूद थे। लेकिन सबसे अहम बात ये है कि जब यूपीए अध्यक्ष पद पवार को सौंपे जाने का प्रस्ताव पारित हो रहा था उस वक्त पवार खुद मंच पर मौजूद थे। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र: उप मुख्यमंत्री अजित पवार के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने पर 15 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी

द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए महाराष्ट्र एनसीपी यूथ विंग के कार्यकारी अध्यक्ष रविकांत वरपे ने कहा कि मैंने प्रस्ताव पेश किया जिसमें सिफारिश की गई थी कि हमारी पार्टी के प्रमुख शरद पवार को क्षेत्रीय दलों का नेतृत्व करना चाहिए और कांग्रेस को क्षेत्रीय दलों के लिए जगह छोड़नी चाहिए। प्रस्ताव का समर्थन करने वाले प्रदेश युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष महबूब शेख ने कहा कि राकांपा प्रमुख को यूपीए अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए। यह पूछे जाने पर कि क्या राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मौजूद राकांपा प्रमुख ने प्रस्ताव का विरोध किया, वरपे ने कहा, "हमारे पार्टी प्रमुख की ओर से कोई विरोध नहीं हुआ...उन्होंने कुछ नहीं कहा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...