प्रियंका गांधी ने रविदास जयंती पर सीरगोवर्धन स्थित मंदिर में पूजा अर्चना की, महंत सन्त निरंजन दास से लिया आशीर्वाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2021   15:44
प्रियंका गांधी ने रविदास जयंती पर सीरगोवर्धन स्थित मंदिर में पूजा अर्चना की, महंत सन्त निरंजन दास से लिया आशीर्वाद

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया कि जो हम सहरी, सु मीत हमारा। (यह संत रविदास की रचना है जिसके जरिये वह कहते हैं कि जो भी जीव इस बंधनों से मुक्‍त है, वह शुद्ध है, वही मेरा मित्र है और मेरा हमशहरी है।)

वाराणसी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को संत रविदास जयंती के अवसर पर वाराणसी के सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना की और उनके गुरुमंत्र से सबके कल्‍याण की कामना की। प्रियंका गांधी सुबह वाराणसी हवाई अड्डे पर पहुंचीं जहां पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू सहित तमाम वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया। यहां से वह सीधे सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंचीं और पूजा अर्चना करके मंदिर के महंत सन्त निरंजन दास से आशीर्वाद लिया। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी ने भरतपुर मामले में कार्रवाई के लिए अशोक गहलोत को कहा धन्यवाद 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार की दोपहर ट्वीट किया कि जो हम सहरी, सु मीत हमारा। (यह संत रविदास की रचना है जिसके जरिये वह कहते हैं कि जो भी जीव इस बंधनों से मुक्‍त है, वह शुद्ध है, वही मेरा मित्र है और मेरा हमशहरी है।) कांग्रेस नेता ने लिखा, समता समभाव, सेवा एवं सद्भावना का गुरुमंत्र देकर एक आादर्श समाज बनाने की प्रेरणा देने वाले संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास जी की जयंती पर वाराणसी में उनके चरणों में नमन करने का आज पुन: सौभाग्‍य मिला। श्री गुरु रविदास जी के गुरुमंत्र से सबका कल्‍याण हो। उल्‍लेखनीय है कि पिछले वर्ष भी प्रियंका गांधी वाद्रा ने वाराणसी के सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना की थी। आज सुबह केन्द्र पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी रविदास मंदिर गए और वहां उन्होंने पूजा अर्चना की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।