विधायकों ने उद्धव के फैसले पर जताई सहमति, जानिए बैठक में क्या कुछ हुआ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2019   15:55
विधायकों ने उद्धव के फैसले पर जताई सहमति, जानिए बैठक में क्या कुछ हुआ

शिवसेना विधायक भास्कर जाधव ने बताया कि ठाकरे ने सरकार गठन की प्रक्रिया और दिल्ली में कांग्रेस-राकांपा नेताओं के बीच बैठकों के बारे में विधायकों को अवगत कराने के लिये उनसे मुलाकात की।

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिये राजनीतिक सरगर्मी बढ़ने के बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के विधायकों से यहां मुलाकात की और उनसे कहा कि राज्य में उनकी पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार बनने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। शिवसेना विधायक भास्कर जाधव ने पीटीआई-भाषा को बताया कि ठाकरे ने सरकार गठन की प्रक्रिया और दिल्ली में कांग्रेस-राकांपा नेताओं के बीच बैठकों के बारे में विधायकों को अवगत कराने के लिये उनसे मुलाकात की।

इसे भी पढ़ें: पूरे देश में माहौल बदल रहा है: सचिन पायलट

उन्होंने कहा, ‘‘उद्धव ने हमसे मुलाकात की और कहा कि शिवसेना नीत सरकार गठन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।’’ जाधव ने कहा, ‘‘विधायकों ने राज्य में नयी सरकार के गठन के लिये कांग्रेस और राकांपा के साथ गठजोड़ करने की पार्टी की कोशिशों से पूरी सहमति जताई है।’’ उन्होंने कहा कि विधायक चाहते हैं कि ठाकरे मुख्यमंत्री बनें। उन्होंने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि उद्धवजी मुख्यमंत्री बनें। लेकिन अंतिम फैसला उन्हीं को लेना है और यह हम सब पर बाध्यकारी होगा।’’ 

जाधव के मुताबिक ठाकरे ने इन अटकलों को खारिज कर दिया है कि भाजपा उनसे संपर्क में है और शिवसेना को मुख्यमंत्री पद की पेशकश की है। उन्होंने शिवसेना प्रमुख को उद्धृत करते हुए कहा, ‘‘आज (शुक्रवार) तक, मुझे भाजपा नेतृत्व से कोई फोन कॉल नहीं आया है। यह कुछ और नहीं बल्कि शिवसेना की छवि धूमिल करने की एक साजिश है।’’

इसे भी पढ़ें: शिवसेना का डबल धमाल, राज्य के बाद मेयर पद पर भी जमाया कब्जा

ठाकरे ने विधायकों को मुंबई में एक साथ रहने को कहा है क्योंकि किसी भी वक्त उनकी जरूरत पड़ सकती है। शिवसेना के विधायक प्रकाश सुर्वे ने संवाददाताओं से कहा कि दो-तीन दिनों में सरकार का गठन हो जाएगा और अगले मुख्यमंत्री शिवसेना से होंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘उद्धवजी किसानों की दशा को लेकर चिंतित हैं।’’ शिवसेना के विधायक सुनील प्रभु ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों को एक साथ रहने को कहा गया है जबकि एक अन्य विधायक उदय सामंत ने कहा कि शिवसेना विधायकों को कोई भी (राजनीतिक दल) अपने पाले में नहीं कर सकता। उन्होंने कहा, ‘‘तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के चलते हम मुंबई में एकसाथ हैं।’’ शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक ने कहा कि राज्य में जल्द ही शिवसेना के मुख्यमंत्री वाली सरकार होगी।

इसे भी पढ़ें: अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा, राकांपा ने पद नहीं मांगा: माणिकराव

उन्होंने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि उद्धवजी मुख्यमंत्री बनें और हमने उनके समक्ष अपनी मांगें रखी है।’’ शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस नेताओं की शुक्रवार को ही एक बैठक होने का कार्यक्रम है, जिसके बाद तीनों पार्टियों द्वारा महाराष्ट्र में नयी सरकार बनाने के लिये दावा पेश करने की उम्मीद है। गौरतलब है कि राज्य में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव हुआ था। चुनाव परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित किए गए थे। जब किसी पार्टी या चुनाव पूर्व बनाये गये गठबंधन ने सरकार गठन के लिए दावा पेश नहीं किया, तो 12 नवंबर को राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।