एक बाहुबली की वजह से पंजाब सरकार और यूपी सरकार में ठनी, मुख्तार को लेकर जंग SC के दरवाजे पर

एक बाहुबली की वजह से पंजाब सरकार और यूपी सरकार में ठनी, मुख्तार को लेकर जंग SC के दरवाजे पर

पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा है कि मुख्तार अंसारी का स्वास्थ्य सही नहीं है और कोर्ट यूपी सरकार की याचिका खारिज कर दे।

रूपनगर की जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश भेजने से पंजाब सरकार ने एक बार फिर मना कर दिया है। जिसके पीछे स्वास्थ्य कारनों का हवाला दिया है। पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा है कि मुख्तार अंसारी का स्वास्थ्य सही नहीं है और कोर्ट यूपी सरकार की याचिका खारिज कर दे। इससे पहले उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहा था कि मुख्तार अंसारी की गैरमौजूदगी की वजह से उत्तर प्रदेश में मामलों की सुनवाई नहीं हो पा रही है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश सरकार का आदेश, एक मार्च से पूरी तरह से खुल जाएंगे सभी स्कूल

योगी सरकार ने कहा कि मुख्तार अंसारी को 2019 में एक मामूली केस में पेशी के लिए यूपी की बांदा जेल से पंजाब की रोपड़ जेल लाया गया था। तब से वह वहीं है। यूपी पुलिस की तमाम कोशिशों के बाद भी रोपड़ जेल सुपरिटेंडेंट उसे भेजने से मना करते रहे हैं। बता दें कि मामले में सुप्रीम कोर्ट 8 फरवरी को सुनवाई करेगा। 

इसे भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ ने कहा- केंद्र के दिशा निर्देशों के अनुरूप शिक्षण कार्य प्रारम्भ करने के लिए कार्यवाही करें

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही मुख्तार अंसारी को कांग्रेस शासित राज्य पंजाब सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश की कोर्ट में पेशी नहीं देने की अनुमति देने को लेकर सोशल मीडिया पर कांग्रेस की जमकर किरकिरी हुई। ट्वीटर पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा को भी निशाना बनाया गया। यहां तक की ट्विटर पर मुख्तार पर मेहरबान प्रियंका टाॅप ट्रेंड में भी रहा था।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।