कृषि कानून विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई मृत किसानों के परिवार को नौकरी देगी पंजाब सरकार

Punjab govt
पंजाब सरकार कृषि कानून विरोध प्रदर्शन के दौरान मृत किसानों के परिजनों को नौकरी देगी।एक बयान में इसकी जानकारी दी गयी है।बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागों को और जरूरी छूट देने का निर्देश दिया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी मृत प्रदर्शनकारियों के परिजनों को रोजगार मिल सके।

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन के दौरान मृत किसानों या खेत मजदूरों के 104 कानूनी वारिसों के लिए नौकरियों को कार्योत्तर मंजूरी दे दी।

इसे भी पढ़ें: पंजाब सरकार ने 10 सरकारी स्कूलों के नाम ओलंपिक पदक विजेता हॉकी टीम के खिलाड़ियों पर रखे

एक बयान में इसकी जानकारी दी गयी है। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन दिल्ली सीमा पर पिछले साल नवंबर से प्रदर्शन कर रहे हैं। कैबिनेट के फैसले के अनुसार, मृत किसान के माता, पिता, विवाहित भाई या बहन, विवाहित बेटी, बहू और नाती-पोते एकमुश्त उपाय के रूप में रोजगार के पात्र होंगे। बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागों को और जरूरी छूट देने का निर्देश दिया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी मृत प्रदर्शनकारियों के परिजनों को रोजगार मिल सके।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़