तमिलनाडु दौरे पर राहुल गांधी ने लिए मशरूम बिरयानी के चटखारे, तेजी से वायरल हो रहा है वीडियो

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 30, 2021   16:14
तमिलनाडु दौरे पर राहुल गांधी ने लिए मशरूम बिरयानी के चटखारे, तेजी से वायरल हो रहा है वीडियो

समझा जाता है कि पिछले सप्ताह राहुल गांधी की तमिलनाडु यात्रा के दौरान यह वीडियो बनाया गया जब उन्होंने राज्य के पश्चिमी हिस्सों का दौरा कर चुनावी बैठकें की थीं। उनके साथ करूर से कांग्रेस की सांसद एस जोतिमणि और तमिलनाडु के पार्टी प्रभारी दिनेश गुंडू राव को भी देखा जा सकता है।

चेन्नई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी का कलान बिरयानी (मशरूम बिरयानी) के चटखारे लेने का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें उन्हें तमिलनाडु के कुछ ग्रामीणों के साथ विशुद्ध दक्षिण भारतीय शैली में प्याज का रायता बनाते हुए भी देखा जा सकता है। यूट्यूब पर ‘विलेज कुकिंग चैनल’ पर डाले गए इस वीडियो को अब तक 31.24 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं। समझा जाता है कि पिछले सप्ताह राहुल गांधी की तमिलनाडु यात्रा के दौरान यह वीडियो बनाया गया जब उन्होंने राज्य के पश्चिमी हिस्सों का दौरा कर चुनावी बैठकें की थीं। उनके साथ करूर से कांग्रेस की सांसद एस जोतिमणि और तमिलनाडु के पार्टी प्रभारी दिनेश गुंडू राव को भी देखा जा सकता है। वीडियो में राहुल गांधी को प्याज और दही से रायता बनाते हुए देखा जा सकता है जिसे तमिल में ‘वेंगयम’ और ‘तायिर’ कहा जाता है। वह इसे बनाने के बाद चख भी रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: गृह मंत्रालय ने सिंघू, गाजीपुर और टीकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सेवाएं निलंबित कीं

इसके बाद भोजन करने से पहले वह ग्रामीणों से बातचीत करते हैं और पूछते हैं कि वे क्या करना चाहते हैं। इसपर एक ग्रामीण कहता है कि वह अमेरिका जाना चाहता है जिसपर गांधी को कहते सुना जा सकता है कि वह ‘अच्छे दोस्त’ सैम पित्रोदा के माध्यम से इसकी कोशिश कर सकते हैं। बाद में सभी को जमीन पर बैठकर केले के पत्ते पर मशरूम बिरयानी के चटखारे लेते देखा जा सकता है। खाने के दौरान कांग्रेस नेता ने बिरयानी पकाने वाले लोगों की तारीफ की और तमिल में ‘रोंबा नल्ला इरुक्कू’ कहा जिसका अर्थ होता है कि यह बहुत अच्छी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।