टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं राहुल गांधी ! क्या भूपेश बघेल की होगी विदाई ?

chhattisgarh
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में ढ़ाई-ढ़ाई साल तक के फॉर्मूले का समर्थन कर रहे हैं। इसके मुताबिक भूपेश बघेल का ढ़ाई साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है और टीएस सिंह देव मुख्यमंत्री बन सकते हैं। हालांकि अंतिम निर्णय आलाकमान का होगा।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में नेतृत्व संकट गहराता जा रहा है। क्या भूपेश बघेल से इस्तीफा मांगा जा सकता है ? ऐसा सवाल राजनीतिक गलियारों में छाया हुआ है। हालांकि हम आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, भूपेश बघेल की जगह पर टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में ढ़ाई-ढ़ाई साल तक के फॉर्मूले का समर्थन कर रहे हैं। इसके मुताबिक भूपेश बघेल का ढ़ाई साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है। ऐसे में टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री बनाने पर विचार किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ कांग्रेस में बढ़ते कलह के बीच बोले भूपेश बघेल, आलाकमान के कहने पर त्याग दूंगा पद 

राहुल के साथ होगी बैठक

भूपेश बघेल ने कहा कि राहुल गांधी से मुलाकात होगी, छत्तीसगढ़ की सरकार सुरक्षित है और हमारे साथ 70 विधायक हैं। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया के यहां पर पार्टी के 40 विधायक पहुंचे हैं। जहां पर वह प्रदेश की स्थिति के बारे में चर्चा करेंगे। इससे पहले विधायक देवेंद्र यादव ने बताया था कि छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल के नेतृत्व में हम लगातार प्रदेश की जनता की सेवा कर रहे हैं। आलाकमान से यहां कि स्थति के बारे में बात करेंगे। सारे विधायक एकजुट हैं।

बता दें कि राहुल गांधी शुक्रवार की शाम 4 बजे भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव से मुलाकात करने वाले हैं। इस मुलाकात पर सभी की निगाह टिकी हुई है। क्योंकि इसी मुलाकात में छत्तीसगढ़ कांग्रेस की आगे की रणनीति तय होगी। वहीं, सोनिया गांधी के साथ भी बैठक की संभावना जताई जा रही है।  

इसे भी पढ़ें: राहुल की चौखट पर पहुंचा छत्तीसगढ़ कांग्रेस का घमासान, सुलह की कोशिशों के बीच 3 घंटे तक चली बैठक 

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने निशाना साधते हुए कहा कि जिस तरह से भूपेश बघेल के आने पर रायपुर हवाई अड्डे पर नारे लगे कि छत्तीसगढ़ अड़ा है, भूपेश के साथ खड़ा है, तो सोचने वाली बात है कि क्या छत्तीसगढ़ के लोग पहले नहीं खड़े थे? यह चुनौती किसे दी जा रही है भाजपा को या कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व को।

दरअसल, साल 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की तरफ से भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार थे। लेकिन चुनाव जीतने के बाद पार्टी ने भूपेश बघेल को सत्ता सौंप दी और फिर ढ़ाई-ढ़ाई साल वाला फॉर्मूला सामने आया। कहा गया कि ढ़ाई साल बाद टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़