दो सीट से चुनाव लड़ेंगे राहुल गांधी, सपा ने कसा तंज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 25, 2019   19:18
दो सीट से चुनाव लड़ेंगे राहुल गांधी, सपा ने कसा तंज

नंदा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए दो और राष्ट्रीय लोक दल (चौधरी अजित सिंह की पार्टी) के लिए तीन सीटें छोड़ी हैं।

कोलकाता। समाजवादी पार्टी (सपा) ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी के अलावा एक अन्य सीट से लड़ने पर विचार करने की संभावनाओं वाली खबरों से उत्तर प्रदेश में पार्टी की ताकत की “असल तस्वीर” का पता चलता है। सपा के उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में सीमित मौजूदगी वाली सपा ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस का समर्थन करेगी जो राज्य से भाजपा को राजनीतिक दृष्टि से पूरी तरह हटाने के लिए लड़ रही है।  

नंदा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए दो और राष्ट्रीय लोक दल (चौधरी अजित सिंह की पार्टी) के लिए तीन सीटें छोड़ी हैं। लेकिन कांग्रेस ने राज्य की 73 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। हम चाहते हैं कि वह हमें कड़ी टक्कर दें।” उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सबसे ज्यादा 80 सीट है जिनके लिए सात चरणों में चुनाव होंगे।  नंदा ने कहा, “हमने सुना है कि कांग्रेस अध्यक्ष उत्तर प्रदेश की अपनी अमेठी सीट के अलावा कर्नाटक या केरल जैसे अन्य राज्यों से भी चुनाव लड़ेंगे। यह उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की संगठनात्मक शक्ति की असल तस्वीर दिखाता है।”

इसे भी पढ़ें: वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक ने कहा- अर्थव्यवस्था में नकदी की स्थिति संतोषजनक

नंदा ने आगामी लोकसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए मात्र दो सीटें छोड़ने के निर्णय का बचाव करते हुए कहा कि 2017 में राज्य विधानसभा चुनावों के लिए उनकी पार्टी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया था लेकिन इसका कोई प्रभाव देखने को नहीं मिला था। सपा ने चुनाव से पहले रालोद के अलावा मायावती नीत बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।