राजस्थान: विधानसभा उपुचनाव के लिए भाजपा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के बीच बनी सहमति

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 26, 2019   19:14
राजस्थान: विधानसभा उपुचनाव के लिए भाजपा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के बीच बनी सहमति

उन्होंने कहा कि अशोक गहलोत अपने बेटे की बेरोजगारी को मिटाने के लिए आर.सी.ए. का अध्यक्ष बनाने में लगे हुए है। ऐसा लग रहा है कि प्रदेश में अधिकारी सरकार चला रहे है। प्रदेश में अपहरण, हत्याओं की घटनाऐं लगातार बढ़ रही है।

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक एवं सांसद हनुमान बेनीवाल, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में संयुक्त प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनावों में खींवसर विधानसभा के लिए राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी एवं भारतीय जनता पार्टी ने गठबंधन का ऐलान किया है। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा सरकार में अपराधियों के साथ उनके चेहरे देखकर सुलूक किया जा रहा: सतीश मिश्रा

बेनीवाल ने कहा कि जिस प्रकार लोकसभा चुनावों में राजस्थान में कांग्रेस का सफाया हुआ है उसी प्रकार विधानसभा उपचुनावों में भी कांग्रेस मुक्त राजस्थान चाहते है और मण्डावा विधानसभा क्षेत्र में भी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी एवं भारतीय जनता पार्टी साथ में चुनाव लड़ेगी एवं प्रचण्ड बहुमत के साथ सीट जीतेगी।

इसे भी पढ़ें: CM के रूप में फेल हो चुके गहलोत PM मोदी पर अनर्गल बयानबाजी कर रहे है: सतीश पूनिया

उन्होंने कहा कि अशोक गहलोत अपने बेटे की बेरोजगारी को मिटाने के लिए आर.सी.ए. का अध्यक्ष बनाने में लगे हुए है। ऐसा लग रहा है कि प्रदेश में अधिकारी सरकार चला रहे है। प्रदेश में अपहरण, हत्याओं की घटनाऐं लगातार बढ़ रही है। अभी हाल ही में किस प्रकार एक बदमाश को थाने से छुड़ाकर ले गये है, यह सरकार के लिए एक शर्म का विषय है। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी दोनों सीटों पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के साथ मिलकर प्रचण्ड बहुमत के साथ विजयी होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।