राम मंदिर में सीता जी की भी हो प्रमुख मूर्ति, भव्य शिवलिंग स्थापित किया जाए: कर्ण सिंह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   15:22
राम मंदिर में सीता जी की भी हो प्रमुख मूर्ति, भव्य शिवलिंग स्थापित किया जाए: कर्ण सिंह

किसी मित्र ने मुझसे पूछा कि क्या आप वास्तव में रामभक्त हैं? मैंने उत्तर दिया कि मैं रघुवंशी हूं, श्रीराम मेरे कुलदेवता हैं जिनका भव्य श्री रघुनाथ मंदिर मेरे पूर्वजों ने जम्मू में बना रखा है। रहा भक्ति का प्रश्न तो मैं उन्हीं (शिव जी) की भक्ति करता हूं जिनकी श्रीराम ने स्वयं पूजा की थी।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कर्ण सिंह ने मंगलवार को कहा कि अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर में भगवान राम के साथ ही सीता जी की भी प्रमुख मूर्ति होनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने यह आग्रह भी किया कि मंदिर में एक भव्य शिवलिंग भी स्थापित किया जाना चाहिए क्योंकि श्रीराम ने शिवजी की उपासना की थी। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘पांच अगस्त को श्रीराम के भव्य मंदिर का जो शिलान्यास होने जा रहा है उस संदर्भ में मेरे कुछ सुझाव हैं। एक तो यह कि प्रमुख मूर्तियां श्रीराम और सीता जी दोनों की होनी चाहिए। अकेले श्रीराम जी पूजा की अधूरी रह जाती है। अयोध्या में सीता जी के साथ जितना अन्याय हुआ है... क्या उनको फिर से वनवास भेजा जाएगा?’’ 

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर की नींव के 2,000 फीट नीचे गाड़ा जाएगा टाइम कैप्सूल, जानिए इसके पीछे की मुख्य वजह

सिंह ने कहा, ‘‘ मेरा दूसरा सुझाव है कि इस मंदिर में एक सुंदर और भव्य शिवलिंग की स्थापना अवश्य होनी चाहिए। यह सर्वविदित है कि श्रीराम ने लंका पर चढ़ाई से पहले और विजय प्राप्त करने के बाद शिव जी की पूजा की थी। रामेश्वरम में स्थित शिव जी का भव्य मंदिर इस सत्य का स्थायी प्रमाण है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व ‘सद्र-ए-रियासत’ ने कहा, ‘‘किसी मित्र ने मुझसे पूछा कि क्या आप वास्तव में रामभक्त हैं? मैंने उत्तर दिया कि मैं रघुवंशी हूं, श्रीराम मेरे कुलदेवता हैं जिनका भव्य श्री रघुनाथ मंदिर मेरे पूर्वजों ने जम्मू में बना रखा है। रहा भक्ति का प्रश्न तो मैं उन्हीं (शिव जी) की भक्ति करता हूं जिनकी श्रीराम ने स्वयं पूजा की थी।’’ गौरतलब है कि आगामी पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ‘भूमि पूजन’ कार्यक्रम होने जा रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।