नामवर सिंह की कमी साहित्य जगत को खलेगी: सीताराम येचुरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2019   15:09
नामवर सिंह की कमी साहित्य जगत को खलेगी: सीताराम येचुरी

हिंदी जगत के प्रसिद्ध साहित्यकार एवं आलोचना के मूर्धन्य हस्ताक्षर प्रोफेसर नामवर सिंह का मंगलवार को निधन हो गया। वह 92 वर्ष के थे।

नयी दिल्ली। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने हिंदी के वरिष्ठ साहित्यकार नामवर सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुये उनके निधन को साहित्य जगत के लिये अपूरणीय क्षति बताया है। येचुरी ने ट्वीट कर कहा कि डॉ नामवर सिंह का साहित्य की दुनिया में बहुत विशेष स्थान था। उनका काम और उनका योगदान, उनके जाने के बाद भी कई पीढ़ियों को प्रभावित करेगा। उन्हें श्रद्धांजलि...। उल्लेखनीय है कि हिंदी जगत के मूर्धन्य साहित्यकार प्रोफेसर नामवर सिंह का मंगलवार को निधन हो गया। वह 92 वर्ष के थे।

इसे भी पढ़ें: महागठबंधन के सवालों पर बोले येचुरी, चुनावों से पहले यह संभव नहीं

सिंह पिछले करीब एक महीने से बीमार थे और उनका इलाज दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में चल रहा था। नामवर सिंह का जन्म 28 जुलाई 1926 को वाराणसी के जीयनपुर गांव (वर्तमान में ज़िला चंदौली) में हुआ था। उनके पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक, सिंह का अंतिम संस्कार बुधवार अपराह्न तीन बजे लोधी रोड स्थित शमशान घाट में किया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।