बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का प्रियंका गांधी पर प्रहार, पूछा- आखिर चाहती क्या हैं?

बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का प्रियंका गांधी पर प्रहार, पूछा- आखिर चाहती क्या हैं?

प्रियंका गांधी पर हमला करते हुए अदिति सिंह ने कहा कि वह सिर्फ मामले का राजनीतिकरण कर रही हैं। अब उनके पास राजनीति के लिए कोई मुद्दा नहीं बचा है। अदिति सिंह ने कहा कि जहां तक लखीमपुर और अन्य मुद्दों की बात है तो प्रियंका गांधी ने हमेशा इसका राजनीतिकरण किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के ऐलान के बाद से राजनीति एक बार फिर से शुरू हो गई। इसका क्रेडिट लेने के लिए होड़ मची हुई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने कई तरीके की मांग भी की है। इन सबके बीच प्रियंका गांधी पर कांग्रेस के बागी विधायक अदिति सिंह ने प्रहार किया है। रायबरेली से कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ने प्रियंका गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि विधेयक लाए जाने पर उन्हें समस्या हुई थी। अब जब विधेयक को निरस्त कर दिया गया तब भी उन्हें समस्या हो रही है। इसके साथ ही उन्होंने पूछा कि आखिर प्रियंका गांधी चाहती क्या है? उन्हें स्पष्ट कहना चाहिए।

प्रियंका गांधी पर हमला करते हुए अदिति सिंह ने कहा कि वह सिर्फ मामले का राजनीतिकरण कर रही हैं। अब उनके पास राजनीति के लिए कोई मुद्दा नहीं बचा है। अदिति सिंह ने कहा कि जहां तक लखीमपुर और अन्य मुद्दों की बात है तो प्रियंका गांधी ने हमेशा इसका राजनीतिकरण किया है। लखमीपुर घटना की सीबीआई जांच चल रही है, सुप्रीम कोर्ट इस पर संज्ञान ले रहा है। अगर वह संस्थानों पर भरोसा नहीं करती है, तो मुझे समझ में नहीं आता कि वह किस पर भरोसा करती है?

इसे भी पढ़ें: सरकार पर राहुल गांधी का निशाना, अब ‘चीनी क़ब्ज़े’ का सत्य भी मान लेना चाहिए

प्रियंका ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

प्रियंका गांधी वाद्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की कि वह लखीमपुर की घटना के मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाएं और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करें। प्रियंका ने मांग की कि देश भर में किसानों के खिलाफ दर्ज हुए मुकदमों को वापस लिया जाए और सभी ‘‘शहीद’’ किसानों के परिवारों को आर्थिक अनुदान दिया जाए। कांग्रेस महासचिव ने शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी लखनऊ आये हैं। वह पुलिस के आला अधिकारियों के सम्मेलन में भाग लेंगे। मैंने उन्हें पत्र लिखा है। मैं आपके माध्यम से उस पत्र को देश और प्रदेश के सामने रखना चाहती हूं।’’ बाद में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दूरबीन लेकर अपराधी और गुंडे खोजने वाले गृहमंत्री, किसानों को कुचलने वाले अपराधी के पिता और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के साथ मंच साझा कर रहे हैं। टेनी ने खुद किसानों को धमकाया था, जिसके बाद किसानों को कुचला गया। कैसे होगा किसानों के साथ न्याय?’’ 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।