बढ़ते मामलों के बीच शोधकर्ताओं का दावा, 26 जुलाई तक भारत में खत्म होगा कोरोना

बढ़ते मामलों के बीच शोधकर्ताओं का दावा, 26 जुलाई तक भारत में खत्म होगा कोरोना

शोधकर्ताओं ने यह भी अनुमान जताया है कि इस समय सीमा में परिवर्तन भी संभव है। इस अनुमान में यह बताया गया था कि चीन में कोरोनावायरस के खत्म होने का समय 9 अप्रैल 2020 था लेकिन अभी भी चीन में कुछ मामले आ रहे है लेकिन अब इसकी संख्या ज्यादा नहीं है।

दुनिया में कोरोना वायरस का भयंकर संकट छाया हुआ है। भारत भी इस संकट से जूझ रहा है। दुनिया में कोरोना वायरस के कारण अब तक 2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अगर बात भारत की करें तो 1000 से ज्यादा लोगों ने वायरस के संक्रमण के कारण अपनी जान गवाई हैं। दुनिया भर के 30 लाख से ज्यादा आबादी इस महामारी का शिकार हुआ है। विश्व के हर कोने में इस बात का इंतजार है कि आखिर इस कोरोनावायरस से कब निजात मिलेगा? कब हम एक बार फिर से खुली हवा में सांस ले सकेंगे? क्या हम पहले जैसी अपनी जिंदगी को जी सकते हैं? हालांकि अभी तक कोरोना का कोई दवा तो नहीं आया है लेकिन एक दावा ऐसी आई है जिससे कि आपको थोड़ी बहुत राहत मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें: एक विवाह ऐसा भी! संविधान को साक्षी मानकर सात फेरों में बंधे वर-वधू

दरअसल सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन के रिसर्चर ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ड्रिवेन डाटा एनालिसिस के जरिए बताया है कि दुनिया में कब तक कोरोला खत्म होगा? इस अध्ययन  में यह दावा किया गया है कि 9 दिसंबर 2020 तक दुनिया से कोरोनावायरस खत्म हो जाएगा। भारत के लिए अच्छी खबर यह है कि यहां 26 जुलाई को कोरोनावायरस खत्म होने की संभावना है। शोधकर्ताओं ने इस महामारी के समाप्त होने के लिए तीन अनुमानित समय बताएं हैं, यानी कि पहला जो अनुमानित समय है वह 97 फ़ीसदी तक के खत्म होने का है जबकि दूसरा है 99 फ़ीसदी का है और जो आखरी है 100 फ़ीसदी तक के खत्म होने का समय है। शोधकर्ताओं ने इसे बकायदा ग्राफ के जरिए भी समझाया है। साथ ही साथ अलग-अलग देशों में कोरोनावायरस के खत्म होने का भी समय सीमा को दर्शाया गया है। 

इसे भी पढ़ें: केंद्र का सरकारी कर्मचारियों को आदेश, कहा- आरोग्य सेतु ऐप को तत्काल करें डाउनलोड

शोधकर्ताओं ने यह भी अनुमान जताया है कि इस समय सीमा में परिवर्तन भी संभव है। इस अनुमान में यह बताया गया था कि चीन में कोरोनावायरस के खत्म होने का समय 9 अप्रैल 2020 था लेकिन अभी भी चीन में कुछ मामले आ रहे है लेकिन अब इसकी संख्या ज्यादा नहीं है। 9  अप्रैल 2020 को चीन में लॉक डाउन खोल दिया गया था। शोधकर्ताओं ने दावा किया कि यह शोध दुनिया भर में रोजाना कोरोना के आने वाले नए केस, मौत और ठीक होने वाले मरीजों के आंकड़ों के अध्ययन के आधार पर किया गया है। शोध में इस बात के साफ संकेत दिए गए है कि दुनिया से कोरोना 30 मई तक 97 फ़ीसदी खत्म हो जाएगा जबकि 99 फ़ीसदी तक खत्म होने में 17 जून का वक्त लग सकता है। वहीं 100 फ़ीसदी के लिए 9 दिसंबर 2020 तक का इंतजार करना पड़ेगा। सबसे पहले अगर हम भारत की बात करें तो भारत में कोरोना 97 फ़ीसदी 22 मई तक खत्म होगा, 99 फ़ीसदी 1 जून तक और 100 फ़ीसदी मामले 26 जून 2020 तक खत्म हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: UP में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 2,115 हुई, 477 मरीज ठीक होकर जा चुके हैं घर

कोरोना के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की बात करें तो अमेरिका में 97 फ़ीसदी केस 12 मई तक खत्म होंगे जबकि 99 फ़ीसदी 24 मई और 100 फ़ीसदी 27 अगस्त तक खत्म हो जाएंगे। इटली में 8 मई को 97 की फ़ीसदी केस खत्म होंगे, 21 मई को 99 फ़ीसदी और 25 अगस्त तक 100 फ़ीसदी केस खत्म हो जाएंगे। स्पेन की बात करें तो 4 मई तक 97 फ़ीसदी केस खत्म होंगे, 16 मई तक 99 फ़ीसदी और 7 अगस्त तक 100 फ़ीसदी केस खत्म हो जाएंगे। ब्रिटेन की बात करें तो 16 मई तक 97 फ़ीसदी, 27 मई तक 99 फ़ीसदी और 14 अगस्त तक 100 फ़ीसदी कोरोना के केस खत्म होंगे। वहीं फ्रांस में 6 मई तक के 97 फ़ीसदी केस खत्म होंगे, 18 मई तक 99 फ़ीसदी और 5 अगस्त तक 100 फ़ीसदी केस खत्म होने की संभावना है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।