शिअद का यू-टर्न, दिल्ली चुनाव में दिया भाजपा को समर्थन, कहा- हमारा गठबंधन भावनात्मक है

शिअद का यू-टर्न, दिल्ली चुनाव में दिया भाजपा को समर्थन, कहा- हमारा गठबंधन भावनात्मक है

दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने का ऐलान किया है। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हमें आशा है कि दिल्ली चुनाव में सिख समुदाय का हमें समर्थन मिलेगा। सुखबीर जी ने भी यह भरोसा दिलाया है।

नयी दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने का ऐलान किया है। आपको बता दें कि भाजपा और शिअद की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का अकाली दल के साथ गठबंधन सबसे पुराना है। उन्होंने कहा कि देश की आवश्यकता पर शिरोमणि अकाली दल हमेशा आगे आता रहा है और भाजपा के साथ गठबंधन में शामिल होता रहा है। मैं धन्यवाद देता हूं शिरोमणि अकाली दल का, जिसने दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भाजपा को समर्थन देने का निर्णय किया है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव नहीं लड़ने के लिये बहाने के तौर पर CAA का इस्तेमाल कर रहा है अकाली दल

जेपी नड्डा ने आगे कहा कि मैं विश्वास दिलाता हूं कि ये गठबंधन मजबूती के साथ चलेगा और यह गठबंधन मजबूती से आगे काम भी करेगा। जेपी नड्डा ने कहा कि हमें आशा है कि दिल्ली चुनाव में सिख समुदाय का हमें समर्थन मिलेगा। सुखबीर जी ने भी यह भरोसा दिलाया है।

शिअद प्रमुख सुखबीर बादल ने कहा कि हम भाजपा को चुनाव में समर्थन दे रहे हैं। भाजपा के साथ हमारा गठबंधन राजनीतिक नहीं बल्कि भावनात्मक है, दोनों दलों का गठबंधन देश और पंजाब के हित एवं भविष्य तथा शांति के लिए है। इसमें लेन-देन की कोई बात नहीं है।

इसे भी पढ़ें: अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव: मनजिंदर सिरसा

साथ में चुनाव लड़ने से किया था इनकार

शिरोमणि अकाली दल ने नागरिकता संशोधन कानून का हवाला देते हुए भाजपा के साथ मिलकर दिल्ली का चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। 20 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की शिअद ने जानकारी दी थी। हालांकि बुधवार को शिअद प्रमुख द्वारा भाजपा के साथ साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सबसे पुराने गठबंधन को सुखबीर बादल ने मजबूत करने का प्रयास किया।

यहां देखें पूरी प्रेस कॉन्फ्रेंस





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।