सड़क, पानी और बिजली अब मध्य प्रदेश में मुद्दा नहीं: अरुण जेटली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2018   11:13
सड़क, पानी और बिजली अब मध्य प्रदेश में मुद्दा नहीं: अरुण जेटली

केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश में कराये गये विकास कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि सड़क, पानी और बिजली की कमी का मुद्दा अब यहां बीते दिनों के बात हो गया है।

जबलपुर। केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश में कराये गये विकास कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि सड़क, पानी और बिजली की कमी का मुद्दा अब यहां बीते दिनों के बात हो गया है। भाजपा के प्रबुद्धजन सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए जेटली ने कहा कि 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में सड़क, पानी और बिजली की कमी अब कोई मुद्दा नहीं रही। इस बैठक में शहर के डॉक्टर, वकील और व्यवसायी शामिल थे। जेटली ने याद करते हुए कहा कि वर्ष 2003 के चुनाव सड़क, बिजली और पानी के मुद्दे पर लड़े गये थे। 

उन्होंने कहा कि उस समय सड़कों की स्थिति दयनीय थी तथा भाजपा के लोग मुझे एक जिले से दूसरी जगह जाने के लिये हेलीकॉप्टर या ट्रेन से जाने की सलाह देते थे। लेकिन 15 साल के भाजपा शासन काल के बाद प्रदेश में सड़कों की गुणवत्ता और संपर्क में सुधार हुआ है। इसके साथ ही पानी और बिजली की स्थिति में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में मध्य प्रदेश अब पंजाब के स्थान पर खाद्यान्न का कटोरा बन गया है। जेटली ने कहा कि मध्य प्रदेश अब बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर निकलकर समृद्ध प्रदेश बनने के मार्ग पर है। केन्द्र सरकार की कल्याणकारी नीतियों का जिक्र करते हुए जेटली ने कहा कि देश में अब सामाजिक आर्थिक असंतोष नहीं है। यदि यह होता तो विपक्षी दल सरकार के खिलाफ इसे लेकर आंदोलन करते।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।