लड़की ने शादी से किया इंकार, तो एसएएफ जवान ने भाई और मां को मारी गोली

SAF jawan shoots
दिनेश शुक्ल । Mar 31, 2021 10:36PM
वही पड़ोसियों ने बताया कि आरोपी को जब किचन में बंद किया गया, तो वह जोर-जोर से चीखने लगा। उसने किचन के अंदर ही अपनी पुलिस की वर्दी भी जला डाली। इसके बाद पुलिस भी मौके पर आ गई और आरोपी जवान को बाहर निकाला।
भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के शाहपुरा थाना क्षेत्र में लड़की द्वारा शादी से इंकार करने पर एसएएफ के जवान ने उसके घर में घुसकर उसके भाई और मां को गोली मार दी। गोली लगने से भाई की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं मां गंभीर रूप से घायल हो गई। बाप-बेटी ने जैसे-तैसे उसकी राइफल छुड़ाई और आरोपी जवान को किचन में कैद करके जान बचाई। इस घटना के बाद बुधवार को डीआईजी ने आरोपी जवान अजीत चौहान एवं गार्ड कमांडर चंद्रभूषण पाराशर को निलंबित कर दिया है।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच 15 अप्रैल तक नहीं होगा बस आवागमन, स्कूल/कालेज में नहीं होगा शिक्षण कार्य


वही पीड़ित युवती ने बताया मेरी एसएसएफ के जवान अजीत चौहान से 21 अक्टूबर 2020 को सगाई हुई थी। कुछ दिन बाद वह परेशान करने लगा। साइको टाइप की हरकतें करता था। कभी-कभी धमकाता भी था। बाद में मेरे दोस्त, रिश्तेदारों को फोन करके परेशान करने लगा। मई 2021 में हमारी शादी होने वाली थी लेकिन मैंने मना कर दिया। मंगलवार रात करीब 11.30 बजे के बाद अजीत मेरे घर में घुसा और सीधे मेरे रूम में आ गया। उसके पास राइफल थी। वह कहने लगा कि मुझसे शादी करोगी या नहीं। मैंने उससे कहा कि तुम वापस जाओ, अपने परिवार को लेकर आना तब बात करेंगे। इस पर वह गुस्सा हो गया और शादी नहीं करने पर जान से मारने की धमकी देने लगा। मेरी मां जानकी और भाई रितेश बीच-बचाव के लिए आ गए। इस पर आरोपी अजीत ने मेरे भाई रितेश को गोली मार दी।

 

इसे भी पढ़ें: बांधवगढ़ के वन क्षेत्र लगी आग, मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान

इसके बाद उसने मां पर भी फायर किया। मैंने और पापा ने मिलकर किसी तरह उससे राइफल छुड़ाई वर्ना वह हम सबको मार देता। राइफल छुड़ाने के बाद हमने उसे किचन में बंद कर दिया। जैसे-तैसे जान बचाकर भाई और मां को अस्पताल ले गए। लेकिन भाई को नहीं बचाया जा सका। मां की स्थिति अभी स्थिर है। वही पड़ोसियों ने बताया कि आरोपी को जब किचन में बंद किया गया, तो वह जोर-जोर से चीखने लगा। उसने किचन के अंदर ही अपनी पुलिस की वर्दी भी जला डाली। इसके बाद पुलिस भी मौके पर आ गई और आरोपी जवान को बाहर निकाला। इधर, डीआईजी ने सरकारी राइफल से हत्या करने का मामला सामने आने के बाद आरोपी जवान और लापरवाही बरतने पर कमांडर चंद्रभूषण पाराशर को निलंबित कर दिया।

अन्य न्यूज़