मॉब लिंचिंग पर सलमान खुर्शीद का बड़ा बयान, कहा- दिल्ली में नहीं है डर का कोई माहौल

By अभिनय आकाश | Publish Date: Jul 13 2019 11:34AM
मॉब लिंचिंग पर सलमान खुर्शीद का बड़ा बयान, कहा- दिल्ली में नहीं है डर का कोई माहौल
Image Source: Google

20 जून को झारखंड के धतकीडीह गांव में तबरेज अंसारी नाम का एक मुस्लिम युवक भीड़ की हिंसा का शिकार हुआ था। चोरी के शक में लोगों ने उसे पकड़कर बुरी तरह से पीटा. उसे ''जय श्री राम'' बोलने के लिए मजबूर किया। इस घटना की पूरे देश में निंदा हुई थी।

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने मॉब लिंचिंग पर बड़ा बयान दिया है। सलमान खुर्शीद ने कहा है कि दिल्ली के उन इलाकों में डर का कोई माहौल नहीं है जहां हम रहते हैं या काम करते हैं। खुर्शीद ने छोटी जगहों का उल्लेख करते हुए ये जरूर कहा कि गांवो और छोटे शहरों में ‘भीड़ की हिंसा’ का डर है। इससे पहले बीते दिनों अपनी पुस्तक “विजिबल मुस्लिम- इनविजिबल सिटिजन: अंडरस्टेंडिंग इस्लाम इन इंडियन डेमोक्रेसी’ के विमोचन पर खुर्शीद ने अल्पसंख्यक समुदाय की चिंताओं को उठाते हुए दावा किया कि विविधता के पारंपरिक विचार की बजाए देश की एकता के लिए “एकरुपता” को “अभिन्न” बताए जाने पर जोर दिया जा रहा है। खुर्शीद ने कहा, “अगर एक लोकतंत्र में असहमति एवं मतभेद के लिए जगह नहीं होगी तो उस लोकतंत्र पर सवाल उठने चाहिए। असहमति या मतभेद पर विचारों का आदान-प्रदान न हो पाना लोकतंत्र की त्रासदी है।” उन्होंने कहा, “एकरूपता को एकता के लिए अभिन्न बताए जाने पर जोर दिया जा रहा है। हम पारंपरिक विचार में यकीन रखते हैं, आप में से भी कई रखते होंगे कि देश की एकजुटता के लिए विविधता अनिवार्य है।”

 इसे भी पढ़ें: झारखंड लिंचिंग मामले में भारतीय मानव अधिकार मोर्चा ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

बता दें कि 20 जून को झारखंड के धतकीडीह गांव में तबरेज अंसारी नाम का एक मुस्लिम युवक भीड़ की हिंसा का शिकार हुआ था। चोरी के शक में लोगों ने उसे पकड़कर बुरी तरह से पीटा. उसे 'जय श्री राम' बोलने के लिए मजबूर किया। इस घटना की पूरे देश में निंदा हुई थी। पीएम मोदी ने भी संसद में इस घटना की निंदा करते हुए कहा था कि झारखंड में लिंचिंग की घटना से मुझे दुख हुआ। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story