सलमान खुर्शीद ने बीजेपी को बताया भयावह, चुनाव बाद सपा के साथ गठबंधन के दिए संकेत

सलमान खुर्शीद ने बीजेपी को बताया भयावह, चुनाव बाद सपा के साथ गठबंधन  के दिए संकेत

सलमान खुर्शीद ने कहा ने कहा कि सपा के साथ हमारे बहुत अच्छे संबंध नहीं हैं क्योंकि हमारे पास गहरे वैचारिक मुद्दे हैं। बड़े फ्रेमवर्क पर, हम बीजेपी को सत्ता से बाहर करना पसंद करेंगे क्योंकि वे बेहद भयावह रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ कांग्रेस के गहरे वैचारिक मुद्दे हैं। फिर भी, उन्होंने कहा, कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता से बेदखल करना पसंद करेगी "क्योंकि वे बेहद भयावह रहे हैं"। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए खुर्शीद ने कहा ने कहा कि सपा के साथ हमारे बहुत अच्छे संबंध नहीं हैं क्योंकि हमारे पास गहरे वैचारिक मुद्दे हैं। बड़े फ्रेमवर्क पर, हम बीजेपी को सत्ता से बाहर करना पसंद करेंगे क्योंकि वे बेहद भयावह रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिला मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद, कांग्रेस ने किया कटाक्ष

उत्तर प्रदेश में चौथे चरण का मतदान जारी है। खुर्शीद की टिप्पणी से संकेत मिलता है कि कांग्रेस त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में राज्य में चुनाव के बाद के गठबंधन की दिशा में कांग्रेस की रणनीति का संकेत देती है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनाव प्रचार पर खुर्शीद ने कहा कि हम राज्य में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए जोरदार तरीके से चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि, हमें वाड्रा द्वारा बनाई गई अभिनव रणनीतियों के प्रभाव को देखने के लिए इंतजार करने की जरूरत है। यूपी। आज नहीं तो कल वह राजनीति यूपी की सूरत बदलने वाली है।

इसे भी पढ़ें: Uttar Pradesh 2022 । चौथे चरण में योगी-अखिलेश-मायावती की साख दांव पर, दिग्गजों ने डाले वोट

चौथे चरण के मतदान के बाद यूपी में राज्य की करीब 58 फीसदी सीटों पर चुनाव संपन्न हो जाएंगे। भाजपा और सपा दोनों ने राज्य में सरकार बनाने का भरोसा जताया है। वाड्रा ने प्रचार अभियान के दौरान कहा है कि कांग्रेस की पिच उन मुद्दों पर है जो लोगों के लिए तत्काल चिंता का विषय हैं। चौथे चरण के मतदान में आज पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, उन्नाव, लखनऊ, रायबरेली, बांदा और फतेहपुर जिले के 59 विधानसभा क्षेत्रों में 624 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।