संजय राउत का बड़ा दावा, राज्य में सत्ता परिवर्तन तय, शिंदे गुट के कई विधायक हमारे संपर्क में हैं

Sanjay Raut
creative common
अभिनय आकाश । Jul 28, 2022 1:21PM
शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में सत्ता का हस्तांतरण निश्चित है। कई विधायक भावुक होकर शिंदे गुट में चले गए हैं। संजय राउत ने दावा किया है कि 16 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

शिवसेना में एकनाथ शिंदे के बगावत के बाद शिवसेना के 40 विधायक अलग हो गए। इससे राज्य में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार गिर गई। उसके बाद शिंदे और देवेंद्र फडणवीस की सरकार बनी। महाराष्ट्र में तेजी से बदलते इस सियासी घटनाक्रम के एक माह हो जाने के बाद भी कैबिनेट का विस्तार नहीं किया गया है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में सत्ता का हस्तांतरण निश्चित है। कई विधायक भावुक होकर शिंदे गुट में चले गए हैं। संजय राउत ने दावा किया है कि 16 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा से दशकों पुराना नाता तोड़कर 'दिग्गा' बने थे मुख्यमंत्री, एकनाथ शिंदे ने बगावत कर गिराई थी सरकार

कई विधायक मानसिक रूप से वर्तमान सरकार से नहीं हैं, वे भ्रमित हैं। आज चले गए कई विधायक हमारे संपर्क में हैं और अगर भविष्य में महाराष्ट्र में सत्ता का एक और परिवर्तन होता है तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होना चाहिए। राउत ने भविष्यवाणी की है कि राज्य में सत्ता का एक और बदलाव होगा। राउत ने कहा कि शिंदे समूह के कुछ विधायक हमारे संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री लगातार दिल्ली को उड़ा रहे हैं। वह अब तक पांच बार दिल्ली आ चुके हैं। इसके फिर से जाने की संभावना है। पूर्व मुख्यमंत्रियों के पास बार-बार दिल्ली जाने का समय नहीं था। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के पूर्व सीएम को एकनाथ शिंदे ने किया बर्थडे विश, उद्धव को नहीं कहा शिवसेना प्रमुख

राउत ने मुख्यमंत्री शिंदे पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि यह सवाल खड़ा हो गया है कि क्या वर्तमान मुख्यमंत्री को अपना प्रवास दिल्ली स्थानांतरित करना है। फिलहाल ईडी कई लोगों की जांच कर रही है। कांग्रेस प्रभारी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, राकांपा के नवाब मलिक भी ईडी जांच का सामना कर रहे हैं। हम सभी जांच में शामिल हुए, ईडी का सम्मान किया। राउत ने कहा कि अगर मुझे इस मामले में गिरफ्तार भी किया जाता है तो भी मुझे शिवसेना की ओर से गिरफ्तारी की कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़