पात्रा चॉल घोटाले में संजय राउत की कस्टडी बढ़ी, कोर्ट ने 8 अगस्त तक ED की हिरासत में भेजा

Sanjay Raut
ANI
अभिनय आकाश । Aug 04, 2022 2:12PM
आज शिवसेना नेता संजय राउत को बृहस्पतिवार को यहां एक विशेष अदालत में पेश किया गया। पात्रा चॉल जमीन और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को 8 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजा गया।

ईडी ने पात्रा चाल घोटाले के सिलसिले में शिवसेना के सांसद संजय राउत को बीते दिनों गिरफ्तार किया। धनशोधन मामले में पार्टी के सांसद संजय राउत के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई की गई।  अदालत ने सोमवार को राउत को ईडी की हिरासत में भेजा था, जिसकी अवधि बृहस्पतिवार को समाप्त हो रही थी। जिसके बाद आज शिवसेना नेता संजय राउत को बृहस्पतिवार को यहां एक विशेष अदालत में पेश किया गया। पात्रा चॉल जमीन और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को 8 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजा गया।

इसे भी पढ़ें: शिंदे गुट की ओर पेश साल्वे बोले-हमारे यहां किसी नेता को ही पूरी पार्टी मान लिया जाता है, किसी ने शिवसेना नहीं छोड़ी

इससे पहले केंद्रीय एजेंसी ने उपनगर गोरेगांव में पात्रा ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित वित्तीय अनियमितताओं और उनकी पत्नी तथा कथित साथियों के संपत्ति से जुड़े वित्तीय लेनदेन के संबंध में राउत को रविवार मध्यरात्रि को गिरफ्तार किया था। ईडी ने राउत को सोमवार को धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) अदालत के न्यायाधीश एम जी देशपांडे के समक्ष पेश किया था और उनकी आठ दिन की हिरासत मांगी थी लेकिन अदालत ने शिवसेना नेता को चार अगस्त तक की हिरासत में भेजा था।

इसे भी पढ़ें: पोस्टर लगाने को लेकर आपस में भिड़े शिंदे और उद्धव गुट के शिवसैनिक, हाथापाई की आई नौबत

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक विशेष अदालत को सोमवार को बताया कि शिवसेना सांसद संजय राउत और उनके परिवार को मुंबई में एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास परियोजना में कथित अनियमितताओं से हासिल एक करोड़ रुपये “अपराध से आय” के रूप में प्राप्त हुए।  ईडी ने यह दावा धन शोधन मामले में संजय राउत की हिरासत की मांग करते हुए किया था। ईडी के मुताबिक यह मामला उपनगरीय गोरेगांव में पात्रा चॉल के पुनर्विकास में अनियमितताओं और वित्तीय संपत्ति के लेनदेन से संबंधित है, जिसमें उनकी पत्नी और उनके कथित सहयोगी शामिल हैं। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़