पीएमसी धनशोधन मामले में ED के सामने पेश नहीं हुईं संजय राउत की पत्नी,

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   20:40
पीएमसी धनशोधन मामले में ED के सामने पेश नहीं हुईं संजय राउत की पत्नी,

र्षा राउत ने केंद्रीय एजेंसी से इस नवीनतम समन पर स्थगन और मुम्बई में उसके सामने पेश होने के लिए पांच जनवरी की नयी तारीख देने की मांग की। तत्काल यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि ईडी ने अनुरोध मान लिया है या नहीं।

मुम्बई। शिवसेना सेना संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत 4300 करोड़ रूपये के पीएमसी बैंक धनशोधन के मामले में मंगलवार को पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश नहीं हुईं। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि वर्षा राउत ने केंद्रीय एजेंसी से इस नवीनतम समन पर स्थगन और मुम्बई में उसके सामने पेश होने के लिए पांच जनवरी की नयी तारीख देने की मांग की। तत्काल यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि ईडी ने अनुरोध मान लिया है या नहीं। ईडी वर्षा से उनसे एक व्यक्ति की पत्नी से 55 लाख रूपये के अंतरण के संबंध में पूछताछ करना चाहती है। यह व्यक्ति पीएमसी धोखाधड़ी मामले में आरोपी है। सूत्रों ने बताय कि वर्षा को तीसरी बार समन जारी किया है , इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर पेश नहीं हुईं। पूछताछ के लिए भेजे गये ये सम्मन उन्हें धनशोधन रोकथाम अधिनियम के प्रावधानों के तहत जारी किये गये। 

इसे भी पढ़ें: पत्नी को ईडी के नोटिस के बाद बोले राउत, बीजेपी महाराष्ट्र सरकार को गिराने के लिए कर रही केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल

संजय राउत ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में उनकी पत्नी द्वारा कोई गड़बड़ी किये जाने से इनकार किया था और कहा था कि करीब डेढ़ महीने से इस मामल के सिलसिल में उनका इस जांच एजेंसी से पत्राचार चल रहा है। राउत ने कहा, ‘‘हम मध्यवर्गीय लोग हैं। मेरी पत्नी ने मकान खरीदने के लिए दस साल पहले एक मित्र से ऋण लिया था। आयकर विभाग को उसका ब्योरा दिय गया और मेरे राज्यसभा हलफनामे में भी उसका जिक्र है। ईडी दस साल बाद इस सौदे पर जगी है।’’ ईडी ने पंजाब एंड हरियाणा कोपरेटिव बैंक (पीएमसी) में कथित ऋण धोखाधड़ी को लेकर पिछले साल अक्टूबर में हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर , उसके प्रवर्तकों--राकेश कुमार वाधवान, उनके बेटे सारंग वाधवान, उसके पूर्व अध्यक्ष वरियम सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ पीएमएलए मामलादर्ज किया था।उसने मुम्बई पुलिस की अपराध शाखा द्वारा दर्ज की गयी प्राथमिकी का भी संज्ञान लिया था जिसमें पीएमसी बैंक को 4355 करोड़ रूपये का नुकसान पहुंचाने का आरेाप है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।