मामा की सरकार में अधिकारियों की चल रही है मनमानी, उजागर हुआ साईकल वितरण योजना में घोटाला

मामा की सरकार में अधिकारियों की चल रही है मनमानी, उजागर हुआ साईकल वितरण योजना में घोटाला

निशुल्क साइकिल वितरण योजना में मध्य प्रदेश के सागर जिले की सभी तहसीलों के स्कूलों में साईकिल वितरण योजना में घोटाला सामने नजर आ रहा है।

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले छात्र छात्राओं के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही है। निशुल्क साइकिल वितरण योजना में मध्य प्रदेश के सागर जिले की सभी तहसीलों के स्कूलों में साईकिल वितरण योजना में घोटाला सामने नजर आ रहा है।

इसे भी पढ़ें:वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत गंभीर, बेटी मल्लिका ने लिखा भावुक पोस्ट 

आपको बता दें कि जो साइकिले कक्षा 6 और कक्षा 9 के छात्र छात्राओं को प्रत्येक स्कूलों में दर्ज संख्या के हिसाब से शासन द्वारा स्कूल भेजी जाती है। वहीं सागर जिले के सभी तहसीलों के स्कूलों में साइकिले कागजों में वितरित हो चुकी हैं। जबकि जिले भर के सभी संकुल स्कूलों में सैकड़ों की संख्या में रखी हुई है। जो कंडम स्थिति में होकर जर्जर स्थिति में पहुंच गई है। जिसमें कुछ साइकिलो में जंग लग चुकी है तो कुछ साइकिलो के ट्यूब टायर खराब हो चुके हैं।

बताया जा रहा है कि कुछ तो साइकिले चोरी छुपे सेटिंग से बेची जा चुकी है। जिसका कोई रिकॉर्ड अधिकारियों के पास नहीं है। इसकी उच्चस्तरीय जांच की मांग की जा रही है। सागर जिले के लापरवाह अधिकारियों के द्वारा शासन की साइकिल वितरण योजना में घोटाला कर करोड़ों रुपए की राशि को चूना लगाया जा रहा है। और उन अधिकारीयों पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की जा रही।

इसे भी पढ़ें:क्या खत्म होगा किसान आंदोलन ? संयुक्त किसान मोर्चा ने 1 दिसंबर को बुलाई आपातकालीन बैठक

वहीं शासन की साइकिल वितरण योजना में भ्रष्टाचार की बात को लेकर सागर जिले के देवरी ब्लॉक के पूर्व बीजेपी मंडल अध्यक्ष संदीप जैन द्वारा सोशल मीडिया पर साइकिल वितरण योजना की बात करते हुए देवरी हाई स्कूल में करीब 400 साइकिल 2019 से खराब हो रही है। उन साइकिलो का वितरण छात्र छात्राओं को नहीं किया गया।

इसी कड़ी में कांग्रेस के देवरी विधायक हर्ष यादव द्वारा शिक्षा विभाग के आयुक्त को पत्र लिखकर पूरे जिले भर में साइकिल वितरण की जानकारी मांगी गई थी। जो जानकारी अधिकारियों द्वारा दी गई है उस जानकारी को देने में भी लीपापोती की गई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।