शाहरुख खान ने आर्थर रोड जेल में अपने बेटे आर्यन से मुलाकात की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 21, 2021   09:51
शाहरुख खान ने आर्थर रोड जेल में अपने बेटे आर्यन से मुलाकात की

ड्रग्स केस में मुंबई के आर्थर रोड जेल में बंद बेटे आर्यन खान खान से शाहरुख खान मिलने पहुंचे हैं। ड्रग्स केस में एक बार फिर से किंग खान के बेटे आर्यन खान को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, विशेष अदालत ने आर्यन समेत तीनों आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी है।

अभिनेता शाहरुख खान क्रूज शिप ड्रग रेड मामले में जेल में बंद अपने बेटे आर्यन से मिलने मुंबई की आर्थर रोड जेल पहुंचे। शाहरूख खान ने अपने बेटे से 15 मिनट जेल में मिले। कई दिनों से जेल में बंद बेटे से पहली बार शाहरुख मिलने पहुंचे। बुधवार को सेशन कोर्ट में आर्यन की जमानत याचिका खारिज हो गई थी। आर्यन खान केस में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो लगातार जमानत का विरोध कर रहा है। NCB की सभी दलीलें मुख्य रूप से वॉट्सऐप चैट पर आधारित हैं। अब आर्यन की जमानत के लिए उसके वकील ने बॉम्बे उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है।

इसे भी पढ़ें: अभी भी सलाखों के पीछे रहेंगे आर्यन खान, ड्रग्स केस में खारिज हुई जमानत याचिका

ड्रग्स केस में एक बार फिर से किंग खान के बेटे आर्यन खान को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, विशेष अदालत ने आर्यन समेत तीनों आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी है। जिसका मतलब साफ है कि उन्हें अभी सलाखों के पीछे ही रहना पड़ेगा।

आर्थिक राजधानी मुंबई की एक विशेष अदालत ने अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और दो अन्य को जमानत देने से इनकार कर दिया। इन्हें मुंबई के पास एक क्रूज से ड्रग्स बरामद होने के संबंध में गिरफ्तार किया गया था। विशेष न्यायाधीश वीवी पाटिल ने आर्यन और उनके दो मित्रों- अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत याचिकाओं को खारिज कर दिया। जिसके बाद अब आर्यन के वकील बंबई हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's Newsroom। आर्यन खान की जमानत याचिका खारिज । पुलिस हिरासत में प्रियंका गांधी

एनसीबी ने आर्यन खान, मर्चेंट और धमेचा को ड्रग्स रखने, इससे संबंधित साजिश, इसके सेवन, खरीद और तस्करी करने के आरोप में 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। तीनों इस समय न्यायिक हिरासत में हैं। आर्यन और मर्चेंट मुंबई में ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं तथा धमेचा बायकुला महिला जेल में हैं। इन लोगों पर एनडीपीएस की धाराओं 8(सी), 20(बी), 27, 28, 29 और 35 के तहत मुकदमा दर्ज है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।