पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर शिवसेना ने साधा मोदी पर निशाना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 18, 2019   14:15
पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर शिवसेना ने साधा मोदी पर निशाना

पार्टी ने कहा, ‘‘यह राजनीतिक विरोधियों पर सर्जिकल हमला करने का समय नहीं है, बल्कि यह पाकिस्तान पर हमला करने और हमारे जवानों की हत्या का बदला लेने का समय है।

मुंबई। शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अप्रत्यक्ष निशाना साधते हुए कहा कि कोई भी राजनीतिक ‘‘लहर’’ न तो कश्मीर मुद्दा सुलझा पाई और न ही जवानों की हत्या रोक पाई। केंद्र और महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने कहा कि अब समय आ गया है कि जवानों की हत्या का बदला लेने के लिए पाकिस्तान पर ‘‘हमला’’ किया जाए। साथ ही पार्टी ने कहा कि पुलवामा हमले के दोषियों से निपटने का प्रधानमंत्री का आश्वासन उनकी कार्रवाइयों में परिलक्षित होना चाहिए। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि यह राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ ‘‘सर्जिकल हमला’’ करने का समय नहीं है।

उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी ने अपने मुखपत्र में लिखे संपादकीय में कहा कि सरकार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को ‘‘अलग थलग’’ करने के लिए अपनी पीठ थपथपाई है, लेकिन पड़ोसी देश भारतीय जमीन पर अब भी आतंकवादी हमले कर रहा है। उसने कहा, ‘‘देश ने गुस्से और राजनीतिक जीत की लहरें देखी हैं, लेकिन इससे न तो कभी कश्मीर का मुद्दा सुलझा और न ही जवानों की हत्या रुकी।’’ शिवसेना ने उरी में सेना के ठिकानों पर हुए हमले के जवाब में नियंत्रण रेखा पर 2016 में आतंकवादी ठिकानों पर किए गए सर्जिकल हमले का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘लेकिन हमें यह समझना चाहिए कि वास्तविक सर्जिकल हमला क्या है। जिस तरह अमेरिका ने पाकिस्तान में घुसकर (अलकायदा प्रमुख) ओसामा बिन लादेन को (अमेरिका में 9...11 के आतंकवादी हमले के लिए) मारा, वह सर्जिकल हमला कहलाता है।’’


यह भी पढ़ें: पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड कामरान और गाजी ढेर, 5 जवान शहीद

पार्टी ने कहा, ‘‘यह राजनीतिक विरोधियों पर सर्जिकल हमला करने का समय नहीं है, बल्कि यह पाकिस्तान पर हमला करने और हमारे जवानों की हत्या का बदला लेने का समय है। प्रधानमंत्री ने बदला लेने की बात की है, अब उनकी यह कथनी करनी में बदलनी चाहिए।’’ उसने कहा कि यदि सरकार ने वह हिम्मत दिखाई, जो श्रीलंका ने लिट्टे का खात्मा करने में दिखाई थी और देश को आतंकवाद मुक्त किया था, तो भारतपाकिस्तान जैसे 100 देशों से छुटकारा पा लेगा। संपादकीय में पार्टी ने लिखा है ‘‘यह समय राजनीति में लिप्त होने का नहीं बल्कि हमारे जवानों के साथ एकजुटता से खड़े होने का है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।