जबलपुर में द मिसिंग बीन फिल्म की शूटिंग, 01 फरवरी से शुरू होगी शूटिंग

जबलपुर में द मिसिंग बीन फिल्म की शूटिंग, 01 फरवरी से शुरू होगी शूटिंग

इस फिल्म की शूटिंग की शुरुआत एक फरवरी से देवताल से होगी। जबलपुर में करीब चालीस दिन तक चलने वाली शूटिंग के दौरान कचनार सिटी स्थित शिव मंदिर परिसर में भी समूह नृत्य को फिल्माया जायेगा।

जबलपुर। हैदराबाद की फिल्म निर्माता कम्पनी आइडियल फिल्म मेकर द्वारा वर्किंग टाइटल; द मिसिंगबीन का जबलपुर एवं आसपास की विभिन्न लोकेशन पर शूटिंग विजय नगर स्थित कचनार सिटी में भगवान शंकर की विशाल प्रतिमा के समक्ष हवन पूजन के साथ प्रारम्भ हुई। फिल्म निर्माण के शुभारम्भ के इस अवसर पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, फिल्म के प्रोड्यूसर रघु, डायरेक्टर सबस्टीन नोह ओकोष्टा, जबलपुर टूरिज़्म प्रमोशन काउंसिल के सीईओ हेमंत सिंह एवं फिल्म यूनिट के अन्य सदस्य मौजूद थे।

 

इसे भी पढ़ें: बेटियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को फांसी मिले: मुख्यमंत्री चौहान

इस फिल्म की शूटिंग की शुरुआत एक फरवरी से देवताल से होगी। जबलपुर में करीब चालीस दिन तक चलने वाली शूटिंग के दौरान कचनार सिटी स्थित शिव मंदिर परिसर में भी समूह नृत्य को फिल्माया जायेगा। फिल्म के निर्माण के शुभारम्भ के मौके पर प्रोड्यूसर रघु ने जबलपुर के प्राकृतिक सौंदर्य को अद्भुत बताते हुये कहा कि,द मिसिंग बीन,के बाद जबलपुर में और भी फिल्में बनाने की उनकी योजना है।

 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली की घटना में राहुल गांधी की भूमिका की जांच होः विष्णुदत्त शर्मा

उन्होंने फिल्म की शूटिंग में प्रशासन से मिल रहे सहयोग के लिये कलेक्टर शर्मा का आभार भी जताया। इस अवसर पर कलेक्टर शर्मा ने फिल्म की समूची यूनिट, कलाकारों तथा निर्माता एवं निर्देशक को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि प्रशासन का प्रयास जबलपुर में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहित करना और लॉजिस्टिक सपोर्ट उपलब्ध कराना है। जितनी ज्यादा फिल्मों की शूटिंग यहां होगी जबलपुर के पर्यटन स्थलों के बारे में ज्यादा लोग जान सकेंगे। यहॉं के कलाकारों को भी अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन का मौका मिलेगा, लोगों को रोजगार मिलेगा और यहाँ आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ेंगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।