शुभेंदु अधिकारी को कोर्ट में लगा झटका, कुणाल के मानहानि के मामले में होना होगा पेश

Shubhendu
creative common
अभिनय आकाश । Aug 31, 2022 12:31PM
कुणाल ने राज्य के विपक्षी नेता शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। उस मामले में शुभेंदु के वकील ने व्यक्तिगत पेशी से छूट का अनुरोध किया था।

पश्चिम बंगाल भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ विधायक और नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को कोलकाता की कोर्ट में झटका लगा है। न्यायाधीश ने तृणमूल प्रवक्ता कुणाल घोष द्वारा दायर एक मामले में भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी को व्यक्तिगत रूप से अदालत में पेश होने को कहा। कुणाल ने राज्य के विपक्षी नेता शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। उस मामले में शुभेंदु के वकील ने व्यक्तिगत पेशी से छूट का अनुरोध किया था। बुधवार को कोर्ट ने उस मामले में फैसला सुनाया।  जज ने शुभेंदु की याचिका खारिज करते हुए कहा कि उन्हें इस मामले में कोर्ट में हाजिर होना होगा। कोर्ट ने शुभेंदु की पेशी की तारीख 22 सितंबर तय की है। 

इसे भी पढ़ें: सौगत राय बोले- तृणमूल छोड़ने के लिए स्वतंत्र हैं जवाहर सरकार

शुभेंदु अधिकारी ने कुणाल घोष को ‘पिता द्वारा त्यागा गया बेटा’ कहा था। कुणाल ने उस टिप्पणी के मद्देनजर भाजपा नेता के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। मामले की सुनवाई बैंकशाल कोर्ट में चल रही थी। उन्होंने अदालत से अनुरोध किया कि शुभेंदु को इस मामले में व्यक्तिगत रूप से पेश होने से छूट दी जाए। इस पर लंबी सुनवाई के लिए कोर्ट ने आदेश पर रोक लगा दी। बैंकशाल कोर्ट के जज ने बुधवार को यह आदेश दिया।

इसे भी पढ़ें: 'बंगाल की जनता की आवाज है भाजपा', जेपी नड्डा बोले- भ्रष्टाचार व अराजकता के खिलाफ उठाते रहेंगे आवाज

शुभेंदु के पक्ष में वकीलों ने अदालत में तर्क दिया, "चूंकि उनका घर कांठी है और यह कलकत्ता से बहुत दूर है, इसलिए उन्हें सर्वोच्च न्यायालय की सलाह के बाद व्यक्तिगत उपस्थिति से छूट दी जानी चाहिए।"कुणाल के वकील अयान चक्रवर्ती ने कहा, ''उनकी याचिका में लिखा है कि वह विपक्षी दल के नेता हैं, विधानसभा में बैठते हैं, राजनीति के लिए पूरे बंगाल का भ्रमण करते हैं। 

अन्य न्यूज़