स्‍मृति ईरानी ने अचानक अमेठी पहुंच कोरोना वायरस प्रभावित परिवारों से मुलाकात की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2021   16:05
स्‍मृति ईरानी ने अचानक अमेठी पहुंच कोरोना वायरस प्रभावित परिवारों से मुलाकात की

अपने संसदीय क्षेत्र में कोरोना महामारी से निपटने के लिये की गयी व्यवस्था का जायजा लेने व प्रभावित परिवारों से मुलाकात करने के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी शुक्रवार को बिना किसी पूर्व सूचना के अमेठी पहुंच गईं।

अमेठी (उप्र)। अपने संसदीय क्षेत्र में कोरोना महामारी से निपटने के लिये की गयी व्यवस्था का जायजा लेने व प्रभावित परिवारों से मुलाकात करने के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी शुक्रवार को बिना किसी पूर्व सूचना के अमेठी पहुंच गईं। बगैर किसी सूचना और प्रोटोकॉल के स्मृति ईरानी अचानक जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र के पूरे रघ्घू शुकुल गांव पहुंचीं जहां पर कोरोना से अलग-अलग परिवारों के चार लोगों की मौत हो गई है। मृतक के परिजनों से मिलकर उन्होंने शोक संवेदना व्यक्त की और मदद का भरोसा दिया। स्मृति ईरानी जगदीशपुर के मोहोना पश्चिम गांव गईं जहां राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता विजय कुमार शुक्ला की गत दिनों कोरोना से मौत हो गई। स्मृति ने शोक संवेदना व्यक्त करने के साथ ही परिवार को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

इसे भी पढ़ें: केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा, केजरीवाल ने राष्ट्रध्वज का इस्तेमाल सजावट के लिये किया

केंद्रीय मंत्री ने जगदीशपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और ट्रामा सेंटर का भी निरीक्षण किया और चिकित्सा व्यवस्था का जायजा लिया। ईरानी ने अधिकारियों से मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी लेते हुए कहा कि मरीजों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए। उनके साथ अमेठी के जिलाधिकारी अरुण कुमार, पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह व मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. आशुतोष दुबे भी मौजूद थे। सीएमओ ने विस्तार से उन्हें चिकित्सा सुविधाओं की जानकारी दी। ईरानी ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि यहां पर अल्ट्रासाउंड सहित अन्य चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ाया जाय।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...