चर्चे में सोमेश्वर विधानसभा सीट, एक-दूसरे के खिलाफ चुनावी रण में उतरे पति-पत्नी

election
निधि अविनाश । Jan 30, 2022 12:43PM
अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर विधानसभा सीट (आरक्षित) है। इस सीट से बीजेपी उम्मीदवार और कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या प्रत्याशी हैं। वहीं कंग्रेस की ओर से राजेन्द्र बाराकोटी प्रत्याशी हैं। इश सीट के लिए पति और पत्नी दोनों एक-दूसरे के खिलाफ खड़े होंगे और चुनावी मैदान में जंग के लिए तैयार हो गए है।

अल्मोड़ा जिले की 6 विधानसभा सीटों में इस बार मुकाबला बेहद रोचक होने की उम्मीद है। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के बीच सोमेश्वर विधानसभा सीट काफी चर्चा का विषय बन गई है। बता दें कि, इस सीट पर पहले कैबिनेट मंत्री रेखा सिंह पर सबकी नजरें टिकी हुई थी लेकिन अब इस सीट से उनके पति भी चुनाव लड़ेंगे। दोनों पति और पत्नी ने इस सीट के लिए अपना नामांकन भर दिया है।  पति समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार है तो वहीं पत्नी ने निर्दलीय नामांकन रविवार को कराया है। अब देखना होगा कि पति और पत्नी में से कौन इस सीट पर बाजी मारता है। 

इसे भी पढ़ें: Uttarakhand Election:चुनाव के बदल गए चेहरे! टिहरी सीट से उपाध्याय बनाम नेगी, कौन मारेगा बाजी?

जानकारी के लिए बता दें कि, अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर विधानसभा सीट (आरक्षित) है। इस सीट से बीजेपी उम्मीदवार और कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या प्रत्याशी हैं। वहीं कंग्रेस की ओर से राजेन्द्र बाराकोटी प्रत्याशी हैं। इस सीट के लिए पति और पत्नी दोनों एक-दूसरे के खिलाफ खड़े होंगे और चुनावी मैदान में जंग के लिए तैयार हो गए है। इस बार बलवंत आर्य को समाजवादी पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है। उन्होंने अपना नामांकन गुरूवार को कर दिया था। वहीं पत्नी मधुबाला आर्य भी अल्मोड़ा जिला मुख्यालय में नामांकन कराने पहुंच गई है। उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर अपना नामांकन कराया है। दोनों ने ही चुनाव प्रचार तेजी से शुरू कर दिया है जिसके कारण पति और पत्नी दोनों ही काफी चर्चा में भी आ गए है।

इसे भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव 2022: भाजपा ने उत्तराखंड के लिए 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की

पिछले पांच साल से चुनाव की तैयार कर रहे  समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी बलवंत आर्य ने  बताया कि उन्होंने भाजपा छोड़ समाजवादी पार्टी से लड़ने का फैसला किया। वहीं उनकी पत्नी मधुबाला ने कहा कि उन्होंने इस बार बीजेपी से दावेदारी की थी। लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया। जिसके कारण वह निर्दलीय चुनाव लड़ रही हैं। पति-पत्नी रोज चुनाव प्रचार के लिए घर से निकलते है और शाम को एक साथ रहकर भोजन करते हैं। बलवंत ने 10वीं तक पढ़ाई की है वहीं उनकी पत्नी मधुबाला ने ग्रेजुएशन की है। मधुबाला अभी ताकुला क्षेत्र से जिला सहकारी बैंक की निदशक भी हैं। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़