माँ के साथ गाली गलौज कर रहे पिता पर पुत्र ने किया प्राणघातक हमला, इलाज के दौरान हुई मौत

माँ के साथ गाली गलौज कर रहे पिता पर पुत्र ने किया प्राणघातक हमला, इलाज के दौरान हुई मौत

माता-पिता के बीच झगड़ा होता देख वह परेशान हो गया। रामनारायण अपनी पत्नी को गाली गलौज कर मारपीट कर रहा था। मां को पीटता हुआ देख पुत्र ने पिता से लाठी छुड़ाकर उस पर प्राणघातक हमला कर दिया। जिसके कारण पिता गंभीर रूप से घायल हो गया।

रीवा। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में रिश्तों को तार तार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कलयुगी पुत्र ने अपने ही पिता को लाठी से पीट-पीट कर अधमरा कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक आए दिन अपनी पत्नी के साथ झगड़ा और मारपीट करता था, जिससे परेशान होकर पुत्र ने उस पर प्राणघातक हमला कर दिया। मामले की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पुत्र को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर लिया। 

इसे भी पढ़ें: इंदौर में मिले कोरोना के 523 नये मामले, चार लोगों की हुई मौत

जानकारी अनुसार ग्राम निमगहना थाना जवा निवासी 45 वर्षीय रामनारायण कुशवाहा पुत्र शिवानंद कुशवाहा आए दिन अपनी पत्नी के साथ झगड़ा और मारपीट करता था। रविवार रात भी रामनारायण और उसकी पत्नी के बीच हाल में ही बेची गई धान के पैसे को लेकर विवाद चल रहा था। उनका पुत्र पुष्पराज उर्फ छोटू कुशवाहा (उम्र 20 वर्ष) रविवार की शाम को ही रीवा से ही अपने गांव पहुंचा था।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान की भाजपा नेत्री किरण माहेश्वरी के निधन पर रतलाम में भी शोक व्याप्त

माता-पिता के बीच झगड़ा होता देख वह परेशान हो गया। रामनारायण अपनी पत्नी को गाली गलौज कर मारपीट कर रहा था। मां को पीटता हुआ देख पुत्र ने पिता से लाठी छुड़ाकर उस पर प्राणघातक हमला कर दिया। जिसके कारण पिता गंभीर रूप से घायल हो गया। गंभीर रुप से घायल पिता को लेकर परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जवा पहुंचे, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना रविवार-सोमवार की दरमियानी रात तकरीबन 2 बजे की बताई गई है। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस आरोपित को गिरफ्तार कर उस पर मामला दर्ज किया। वही शव का पंचनामा दर्ज कर पोस्टमार्टम उपरांत परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।