शिवसेना विधायक सरनाइक के पुत्र को पूछताछ के लिए ED कार्यालय लाया गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   18:33
शिवसेना विधायक सरनाइक के पुत्र को पूछताछ के लिए ED कार्यालय लाया गया

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ईडी ने मंगलवार को मुंबई और ठाणे में सरनाइक से संबंधित विभिन्न परिसरों पर छापेमारी की। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि ईडी के अधिकारी सरनाइक के पुत्र को उनके आवास से ले गए और अपराह्न लगभग 3.15 बजे उन्हें लेकर दक्षिण मुंबई में बल्लार्ड एस्टेट स्थित ईडी दफ्तर पहुंचे।

मुंबई। शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक के पुत्र विंहग को धनशोधन मामले में उनके पिता से संबंधित परिसरों पर छापेमारी के बाद पूछताछ के लिए मंगलवार को प्रतर्वन निदेशालय (ईडी) के कार्यालय लाया गया। धनशोधन का यह मामला सुरक्षा सेवा प्रदाता एक कंपनी तथा अन्य से संबंधित है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ईडी ने मंगलवार को मुंबई और ठाणे में सरनाइक से संबंधित विभिन्न परिसरों पर छापेमारी की। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि ईडी के अधिकारी सरनाइक के पुत्र को उनके आवास से ले गए और अपराह्न लगभग 3.15 बजे उन्हें लेकर दक्षिण मुंबई में बल्लार्ड एस्टेट स्थित ईडी दफ्तर पहुंचे।

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी मुंबई और ठाणे में 10 ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। सुबह के समय शुरू किए गए अभियान में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कर्मी ईडी अधिकारियों की मदद करते दिखे। सरनाइक (56) ठाणे के ओवाला-मजीवाडा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने पत्र लिखकर रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ दर्ज आत्महत्या के लिए उकसाने के 2018 के एक मामले को फिर से खोलने की मांग की थी। गोस्वामी इस समय जमानत पर हैं। 

इसे भी पढ़ें: फडणवीस ने ठाकरे नीत महाराष्ट्र सरकार को बताया अप्राकृतिक गठबंधन

सरनाइक ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए महाराष्ट्र विधानसभा में एक सर्वसम्मत प्रस्ताव लाए जाने की भी मांग की थी। शिवसेना सांसद संजय राउत ने छापेमारी को ‘‘राजनीतिक प्रतिशोध’’ की कार्रवाई करार दिया और कहा कि महाराष्ट्र सरकार या इसके नेता किसी के दबाव के सामने नहीं झुकेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।