जमानत मिलने के तुरंत बाद असम पुलिस ने एक और मामले में जिग्नेश मेवानी को किया गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

जमानत मिलने के तुरंत बाद असम पुलिस ने एक और मामले में जिग्नेश मेवानी को किया गिरफ्तार, जानें पूरा मामला
ANI twitter

असम पुलिस के मुताबिक जिग्नेश मेवानी को अधिकारियों पर हमला करने के आरोप में फिर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने यह भी बताया है कि कांग्रेस समर्थित से विधायक मेवानी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मामला भी दर्ज किया गया है।

गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ट्वीट मामले में सोमवार को एक अदालत ने उन्हें जमानत ले लिया था। जमानत मिलने के बाद असम पुलिस ने उन्हें दोबारा गिरफ्तार कर लिया। असम पुलिस के मुताबिक जिग्नेश मेवानी को अधिकारियों पर हमला करने के आरोप में फिर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने यह भी बताया है कि कांग्रेस समर्थित से विधायक मेवानी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मामला भी दर्ज किया गया है। हालांकि जिग्नेश मेवानी को एक अदालत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ उनके ट्वीट से जुड़े एक मामले में जमानत दे दी थी। लेकिन अब दूसरे मामले में उनकी मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है।

आपको बता दें कि जिग्नेश मेवानी को असम पुलिस ने 19 अप्रैल को गुजरात के पालनपुर शहर से गिरफ्तार किया था। उनके एक ट्वीट को लेकर कोकराझार थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोडसे को भगवान मानते हैं।’ विधायक को ट्रांजिट रिमांड पर कोकराझार लाया गया था और कोकराझार के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने 21 अप्रैल को उन्हें तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। जिग्नेश मेवानी की गिरफ्तारी पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘(नरेंद्र) मोदी जी, आप विरोध के स्वर को सरकारी मशीनरी का उपयोग कर कुचलने का प्रयास कर सकते हैं। लेकिन सच को कभी कैद नहीं कर सकते।’’





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।