पीलीभीत में बोले अखिलेश- हम 'चौकीदार' की चौकीदारी छीन लेंगे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 12 2019 5:38PM
पीलीभीत में बोले अखिलेश- हम 'चौकीदार' की चौकीदारी छीन लेंगे
Image Source: Google

अखिलेश यादव ने कहा कि सत्ता में आने पर भाजपा के लोग अच्छे दिन भूल गये, नौकरी भूल गये, गन्ना किसानों का 14 दिन में बकाया भुगतान भूल गये । एक बार फिर भाजपा ने घोषणा पत्र नहीं बल्कि धोखापत्र जारी किया है।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि गांव के चौकीदारों की उसे कोई चिन्ता नहीं है । उन्होंने कहा कि केन्द्र में अगर गठबंधन की सरकार बनी तो गांवों के चौकीदार विशेष सम्मान पाएंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के  चौकीदार  वाले वक्तव्य और नारे पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा,  किसानों के खाद की बोरी से पांच किलो की चोरी हो गयी । आम आदमी की जेब से चोरी हो गयी ... ऐसे में हमारी जिम्मेदारी बनती है कि चौकीदारों की चौकी छीननी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा के घोषणा पत्र को अखिलेश ने बताया धोखा पत्र, बोले- जाति-धर्म की खाई कर रही पैदा

उन्होंने कहा,  गांवों के असली चौकीदारों की सरकार को कोई चिंता नहीं है। समाजवादी सरकार में चौकीदारों को सम्मान दिया गया था। केन्द्र में गठबंधन की सरकार बनने पर गांवों के चौकीदारों को विशेष सम्मान दिया जायेगा। भाजपा पर समाज को धर्म और जाति में बांटकर राजनीति करने का आरोप मढते हुए अखिलेश ने कहा कि महागठबंधन  नफरत  की दीवार को गिराना चाहता है।
अखिलेश ने यहां एक बयान में कहा,  भाजपा समाज को धर्म और जाति में बांटकर राजनीति करना चाहती है जबकि महागठबंधन नफ़रत की दीवार को गिराना चाहता है। उन्होंने कहा,  महागठबंधन ही बदलाव लायेगा, तभी संविधान सुरक्षित रहेगा और सबको अधिकार मिलेगा । सामाजिक न्याय से ही महापरिवर्तन होगा। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा ने जनता को झूठे सपने दिखाये थे । बदलाव लाने और अच्छे दिनों का वादा कर भाजपा ने जनता को भ्रमित कर दिया । 
उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर भाजपा के लोग अच्छे दिन भूल गये, नौकरी भूल गये, गन्ना किसानों का 14 दिन में बकाया भुगतान भूल गये । एक बार फिर भाजपा ने  घोषणा पत्र नहीं बल्कि धोखापत्र  जारी किया है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की दोषपूर्ण नीतियों से रूपया डालर के मुकाबले कमजोर हो गया। भाजपा ने कहा था कि नोटबंदी से कालाधन, भ्रष्टाचार और बेईमानी समाप्त हो जायेगीलेकिन इसके ठीक उलट देश की अर्थव्यवस्था कमजोर हो गयी। 


उन्होंने कहा कि भाजपा असली मुद्दों की बात नहीं कर रही है। किसानों को सस्ती खाद, फसल की सही कीमत मिलनी चाहिए । किसानों को डेढ़ गुना मुनाफा देने का वादा हवा-हवाई ही साबित हुआ। भाजपा सरकार ने आलू और धान खरीदने की बात कही थी लेकिन उस पर कोई अमल नहीं हुआ।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video