'हर घर तिरंगा के प्रति फैलाएं जागरूकता', CM शिवराज बोले- गांवों में निकालें प्रभात फेरियां, महापुरुषों की प्रतिमा को करें साफ

Shivraj Singh Chouhan
Twitter
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि शहर शहर, गांव गांव लोग तिरंगा यात्रा निकालकर अपने राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्र के प्रति सम्मान व्यक्त कर रहे हैं। आप भी अपने गांव में हर घर तिरंगा के प्रति जागरुकता फैलाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह अभियान केवल विकास का नहीं है बल्कि समाज को ठीक दिशा में ले जाने का है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को नव-निर्वाचित जनप्रितिविधियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने सभी के एकजुट होने की अपील की। उन्होंने 'हर घर तिरंगा' कार्यक्रम के तहत कहा कि हर पंचायत में हारे और जीते सभी प्रतिनिधि एक हो जाएं, दल और धर्म से ऊपर उठकर हर घर तिरंगा फहराएं। सभी एक हो जाएं। यह राष्ट्र के सम्मान और गौरव का कार्य है।

इसे भी पढ़ें: MP को मामा 'Heart of India' से बनाना चाहते हैं 'Lungs of India', बोले- हमारी जरा सी लापरवाही के कारण बिजली होती है व्यर्थ 

योजनाओं का जनता को दें लाभ

उन्होंने कहा कि लाडली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री आवास और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि जैसी केंद्र एवं प्रदेश सरकार की 300 से अधिक जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हमें जनता को देना है। उन्होंने कहा कि स्कूल बेहतर चलें, शिक्षा गुणवत्तापूर्ण हो, इसकी जवाबदारी हम सबकी है। सरकार और समाज के प्रयास से ही सकारात्मक परिवर्तन तेजी से आएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह अभियान केवल विकास का नहीं है बल्कि समाज को ठीक दिशा में ले जाने का है। उन्होंने कहा कि अपने गांव और क्षेत्र के विकास की जिम्मेदारी भी हम सबकी है। योजनाओं का लाभ जनता को मिले, यह भी आप सभी जनप्रतिनिधियों को सुनिश्चित करना होगा।

हर घर तिरंगा के प्रति फैलाएं जागरूकता

न्होंने कहा कि शहर शहर, गांव गांव लोग तिरंगा यात्रा निकालकर अपने राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्र के प्रति सम्मान व्यक्त कर रहे हैं। आप भी अपने गांव में हर घर तिरंगा के प्रति जागरूकता फैलाएं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उत्साहित नौजवान साइकिल रैली निकाल सकते हैं। शहीद और क्रांतिकारियों के गांवों तक, एक गांव से दूसरे गांव तक साइकिल और मोटर साइकिल रैली निकाल सकते हैं। महापुरुषों की प्रतिमा की और आस-पास के स्थलों की अपने हाथों से सफाई करें।

इसे भी पढ़ें: आदिवासी सशक्तिकरण की दिशा में 'मामा' का एक और फैसला, MP टूरिज्म के 18 होटलों में बेची जाएगी महुआ से बनी हेरिटेज शराब 

उन्होंने इस देश के बलिदान दिया है। उन्होंने कहा कि तिरंगा फहराने में सभी जाति, धर्म और पंथ के लोग शामिल हों। इसीलिए कलेक्टरों की ड्यूटी लगाई गई है कि अलग-अलग संस्थाओं, सामाजिक, धार्मिक, युवक संगठन इत्यादि सभी को जोड़ें।

इसी बीच उन्होंने कहा कि हमारा गांव स्वच्छ रहे, इसको सुनिश्चित करें। हम अपने गांव की आंगनवाड़ी ठीक चलायेंगे, हर एक बच्चे को पोषण आहार मिले। यह तय करेंगे कि हमारा कोई बच्चा अंडरवेट नहीं रहे। सरकार की तरफ से तो सहायता आयेगी ही, हम अपनी ओर से भी पहल करेंगे कि कोई बच्चा कुपोषित न रहे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़