हावड़ा में शाहनवाज हुसैन पर फेंके गए पत्थर, कहा- मोदी का एक भी सिपाही TMC के गुंडों से डरने वाला नहीं

हावड़ा में शाहनवाज हुसैन पर फेंके गए पत्थर, कहा- मोदी का एक भी सिपाही TMC के गुंडों से डरने वाला नहीं

उन्होंने कहा कि वह सुरक्षित हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं ने घटना के संबंध में पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने इस सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने की पुष्टि की है।

कोलकाता। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने दावा किया कि जब वह पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार रात हावड़ा में प्रचार कर रहे थे, तब उन पर पत्थर फेंके गए। हुसैन ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया, जिसमें वह ड्यूटी पर तैनात अधिकारी को दो पत्थर दिखा रहे हैं और कथित घटना के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि  यह स्पष्ट है कि TMC जानती है कि वह हार रही है और इसलिए वह हताश है। मैं खुद गोलाबारी पुलिस स्टेशन गया और उनसे पूछा कि मेरे वाई+ सीआरपीएफ कवर सिक्योरिटी प्रोटोकॉल के अनुसार पुलिस कर्मियों को क्यों नहीं तैनात किया गया है। अजीब बात है, उनके पास इसके लिए कोई जवाब नहीं था।

शाहनवाज ने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी का एक भी सिपाही टीएमसी के गुंडों से डरने वाला नहीं है ! पत्थर को भी हम फूल बना देंगे ! 2 मई को पूरे पश्चिम बंगाल में कमल का फूल खिलकर रहेगा। उन्होंने कहा कि  पश्चिम बंगाल की जनता के जोश और उमंग को सलाम। 2 मई के बाद कट -  कमीशन वालों की खैर नहीं। 'असोल पोरीबर्तन' करके दिखाएगा पश्चिम बंगाल। जो डराने की कोशिश में हैं, वो डरने के लिए तैयार रहें ! 

इसे भी पढ़ें: बंगाल में 77.68 तो असम में 82.29 प्रतिशत हुआ मतदान, जानिए चुनावी राज्यों में कितने फीसदी पड़े वोट

इससे पहले हुसैन ने ट्वीट किया, “तृणमूल कार्यकर्ताओं ने मुझ पर पत्थर फेंके, जब मैं मुजफ्फर चौक पर एक सभा को संबोधित कर रहा था।” उन्होंने कहा कि वह सुरक्षित हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं ने घटना के संबंध में पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने इस सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने की पुष्टि की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।