स्वतंत्रता सेनानियों पर पुस्तकें पढ़ें छात्र: उप्र की राज्यपाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 30, 2022   08:35
स्वतंत्रता सेनानियों पर पुस्तकें पढ़ें छात्र: उप्र की राज्यपाल
प्रतिरूप फोटो

राज्यपाल ने कहा कि छात्रों को स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन और अंडमान निकोबार में सेलुलर जेल में उनकी (स्वतंत्रता सेनानियों की) पीड़ा के अलावा जलियांवाला बाग नरसंहार के बारे में किताबें पढ़नी चाहिए।

आगरा (उप्र| उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को छात्रों से कहा कि वे स्वतंत्रता सेनानियों और देश की आजादी के लिए उन पर हुए अत्याचारों से जुड़ी किताबें पढ़ें। उन्होंने यह बात यहां डॉ भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के 87वें दीक्षांत समारोह के दौरान कही।

राज्यपाल ने कहा कि छात्रों को स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन और अंडमान निकोबार में सेलुलर जेल में उनकी (स्वतंत्रता सेनानियों की) पीड़ा के अलावा जलियांवाला बाग नरसंहार के बारे में किताबें पढ़नी चाहिए।

फिल्म द कश्मीर फाइल्स का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, कश्मीर में जरूर कुछ ऐसी बर्बर गतिविधि हुई थी, जिसके कारण हिंदू वहां से पलायन कर गए। पटेल ने कहा, आतंकवादियों ने भारत के नेताओं को श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराने की चुनौती दी थी।

इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने चुनौती स्वीकार की और एकता यात्रा निकाली तथा लाल चौक पर झंडा फहराया। मैं भी एकता यात्रा का हिस्सा रही थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।