तमिलनाडु के गणतंत्र दिवस समारोह में केन्द्रीय समिति द्वारा अस्वीकृत झांकी दिखाई गई

Republic Day celebrations
रेनू तिवारी । Jan 26, 2022 10:56AM
तमिलनाडु के राज्यपाल आर एन रवि ने बुधवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर यहां मरीना बीच फ्रंट पर मुख्यमंत्री एम के स्टालिन की उपस्थिति में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इसके साथ ही राज्य सरकार ने एक झांकी का प्रदर्शन किया जिसे एक केन्द्रीय समिति ने राष्ट्रीय राजधानी में राजपथ की परेड में शामिल करने से मना कर दिया था।

चेन्नई। तमिलनाडु के राज्यपाल आर एन रवि ने बुधवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर यहां मरीना बीच फ्रंट पर मुख्यमंत्री एम के स्टालिन की उपस्थिति में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इसके साथ ही राज्य सरकार ने एक झांकी का प्रदर्शन किया जिसे एक केन्द्रीय समिति ने राष्ट्रीय राजधानी में राजपथ की परेड में शामिल करने से मना कर दिया था। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण, मरीना बीच पर गणतंत्र दिवस कार्यक्रम इस साल लगभग केवल 28 मिनट तक चला।

इसे भी पढ़ें: फॉलो अप :भाजपा प्रत्याशी:चौधरी मनिंदर पाल अपने प्रचार काफिले पर हुए हमले की FIR नहीं कराएंगे

राज्य सरकार ने मंगलवार को एक परामर्श जारी कर आम जनता, बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों से कार्यक्रम देखने के लिए मरीना बीच पर जाने से परहेज करने को कहा था। राज्यपाल ने बुधवार सुबह ठीक आठ बजे राष्ट्रीय ध्वज फहराया। झंडा फहराने के बाद वायुसेना के हेलीकॉप्टर ने कार्यक्रम स्थल पर पुष्प बरसाए। स्टालिन ने वीरतापूर्ण प्रदर्शन के लिए वर्दीधारी कर्मियों सहित कई लोगों को विभिन्न पदक प्रदान किए। विंग कमांडर अनुज गुप्ता इस गणतंत्र दिवस परेड के ‘परेड कमांडर’ थे। सशस्त्र बलों, पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों की टुकड़ियों द्वारा शानदार मार्च पास्ट के बाद तमिलनाडु सरकार ने गणतंत्र दिवस की झांकी दिखाई, जिसे एक केन्द्रीय समिति ने राष्ट्रीय राजधानी में होने वाली वार्षिक परेड में शामिल करने से मना कर दिया था। इस झांकी में घोड़े पर सवार रानी वेलु नचियार की एक प्रतिमा प्रदर्शित की गई जिनके हाथ में तलवार थी।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं, राष्ट्रध्वज फहराया

इसमें तमिलनाडु के स्वतंत्रता संग्राम को भी चित्रित किया जिसमें वी ओ चिदंबरम पिल्लई और राष्ट्रीय कवि सुब्रमण्यम भारती की भूमिका को चित्रित किया गया। स्टालिन ने पहले घोषणा की थी कि जिस झांकी के प्रस्ताव को केंद्रीय समिति ने अस्वीकृत कर दिया है, उसे बुधवार को तमिलनाडु सरकार के गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल किया जाएगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़