तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर की अभद्र टिप्पणी, भाजपा ने की कड़ी निंदा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2018   10:51
तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर की अभद्र टिप्पणी, भाजपा ने की कड़ी निंदा

बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव द्वारा ट्विटर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने पर जदयू और भाजपा ने मंगलवार को कड़ी आपत्ति जताई।

पटना। बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव द्वारा ट्विटर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने पर जदयू और भाजपा ने मंगलवार को कड़ी आपत्ति जताई। दरअसल यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कुमार को ‘‘श्री श्री धिक्कारवादी 420 नीतीश चाचाजी’’ लिखा था। यादव ने यह ट्वीट सीबीआई में चल रही उठा पटक पर एक न्यूज पोर्टल की एक रिपोर्ट को साझा करते हुए किया था। इस रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और पीएमओ के एक उच्च अधिकारी उनके पिता लालू प्रसाद यादव तथा परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ आईआरसीटीसी भूमि घोटाला मामले में केस दर्ज कराने के पीछे हैं।

भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कड़े शब्दों वाले अपने बयान में कहा कि सार्वजनिक जीवन में आने के बावजूद लगता है कि तेजस्वी को संवैधानिक पदों और उन पर बैठे हुए लोगों के प्रति कोई सम्मान नहीं है। मुख्यमंत्री के लिए उन्होंने जिन शब्दों का इस्तेमाल किया है उससे उनके शिक्षा और सभ्यता में पिछड़े होने का पता चलता है। उन्होंने कहा, ‘‘धिक्कारवादी और 420 शब्दों का इस्तेमाल करके यादव ने न सिर्फ मुख्यमंत्री का अपमान किया है बल्कि उस जनता का भी अपमान किया है जिन्होंने मुख्यमंत्री को समर्थन दिया है। विपक्ष के नेता को इसके लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।’’ इस बीच कुमार की जदयू ने भी राजद नेता पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि उनकी पार्टी ने राजनीति को ‘पारिवारिक कारोबार’ में तब्दील कर दिया है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।