सांडो की नसबंदी को लेकर सरकार बैकफुट पर आई, आदेश को किया गया निरस्त

सांडो की नसबंदी को लेकर सरकार बैकफुट पर आई, आदेश को किया गया निरस्त

भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने 29 सितंबर 2021 को सांडो की नसबंदी को लेकर आदेश जारी किया था। जिसमें अधिकारियों को 4 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक नसबंदी अभियान चलाने के लिए कहा गया था।

भोपाल। राजधानी भोपाल में सांडो की नसबंदी को लेकर सरकार अब बैकफुट पर आ चुकी है। कांग्रेस और अन्य दलों के उग्र बयानों के बाद पशुपालन विभाग ने अपने दिए गए आदेश को निरस्त कर दिया है।

इसे भी पढ़ें:MP में होगी अनुपयोगी सांडो की नसबंदी, विभाग ने दिया कलक्टरों को आदेश

आपको बता दें कि भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने 29 सितंबर 2021 को सांडो की नसबंदी को लेकर आदेश जारी किया था। जिसमें अधिकारियों को 4 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक नसबंदी अभियान चलाने के लिए कहा गया था।

वहीं इस मुद्दे को लेकर भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने सांडो की नसबंदी को प्रकृति के साथ खिलवाड़ बताया था। उन्होंने कहा था कि अगर ऐसा होता है तो नस्ल खत्म हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें:केंद्रीय कृषि मंत्री के क्षेत्र में किसानों की दुर्गति, घंटों धूप में खड़े रहे, फिर खाद के बदले मिली लाठियां 

इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस ने सरकार को आढ़े हाथों लिया है। कांग्रेस के प्रवक्ता ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह हो क्या रहा है,सरकार चल रही है या सर्कस ? रोज़ सुबह अजीबोग़रीब आदेश निकलते है और शाम होते तक निरस्त ? पहले मदिरा की खपत बढ़ाने का आदेश निकला,कांग्रेस के विरोध के बाद निरस्त। और अब सांडो के बघियाकरण का आदेश भी कांग्रेस के विरोध के बाद निरस्त। ब्यूरोक्रेसी इसीलिये निशाने पर है ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...