PM मोदी के लाल टोपी वाले बयान पर बोले अखिलेश, लाल टोपी और लाल पोटली ही भाजपा को सिखाएगी सबक

Akhilesh Yadav
प्रतिरूप फोटो
सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि यह लाल टोपी और अनाज वाली लाल पोटली ही भाजपा को सबक सिखाएगी। भाजपा को गिराने के लिए किसान तैयार है। हम किसानों से भाजपा को उत्तर प्रदेश से दूर भगाने का अनुरोध करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा को 0 सीटें मिलेंगी।

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी को पहले चरण के लिए मतदान होना है। जबकि 7 मार्च को सातवें चरण के लिए मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे और 10 मार्च को चुनाव परिणाम सामने आएंगे। ऐसे में राजनीतिक दलों के बीच घमासान मचा हुआ है। इसी बीच समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाल टोपी वाले बयान पर कहा कि यही लाल टोपी और लाल पोटली भाजपा को सबक सिखाएगी। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश चुनावों को लेकर निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला, 10 फरवरी से 7 मार्च तक एग्जिट पोल पर लगाई रोक 

भाजपा पर बरसे अखिलेश 

समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि यह लाल टोपी और अनाज वाली लाल पोटली ही भाजपा को सबक सिखाएगी। भाजपा को गिराने के लिए किसान तैयार है। हम किसानों से भाजपा को उत्तर प्रदेश से दूर भगाने का अनुरोध करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा को 0 सीटें मिलेंगी क्योंकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोग हमेशा के लिए भाजपा का सूरज डूबा देंगे।

सपा प्रमुख ने कहा कि जब कोई पहलवान हारने लगता है तो हाथ-पैर फड़फड़ाता है, कभी काटता है, खरोंचता है या गला घोंटता है... यही तो भाजपा कर रही है... सपा एक ऐतिहासिक जीत की ओर आगे बढ़ रही है। वहीं चुनाव बाद भाजपा के साथ रालोद के गठबंधन की संभावना पर अखिलेश ने कहा कि जयंत चौधरी की रालोद और सपा के बीच गठबंधन लोकसभा चुनाव के बाद से है... इस बार भाजपा अंदर तक हिल गई है तभी तो उन्हें डोर-टू-डोर कैंपेन करना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: UP की 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी AIMIM, ओवैसी बोले- योगी और अखिलेश के भीतर मोदी से बड़ा हिंदू बनने की चल रही प्रतियोगिता

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में सात चरणों में मतदान होने वाला है। पहले चरण में 10 फरवरी को 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान होगा। इसमें शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलंदशहर जिले प्रमुख हैं। जबकि दूसरे चरण में 14 फरवरी को 9 जिलों की 55 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा। इन दोनों चरणों में पश्चिमी उत्तर प्रदेश की अधिकांश सीटें कवर हो जाएंगी। जिसको लेकर घमासान मचा हुआ है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़