• TMC की बंगाल में हिंसा की संस्कृति, संसद में भी वही लाने की कर रहे कोशिश: अश्विनी वैष्णव

अंकित सिंह Jul 23, 2021 12:15

खबरों के मुताबिक पेगासस मामले पर जब आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव बयान दे रहे थे तब तृणमूल सांसद शांतनु सेन में उनसे कागज छीन लिया और उसे फाड़ दिया। इसके बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी के साथ भी तृणमूल कांग्रेस के सांसदों की नोकझोंक हुई। इसी को लेकर मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बयान दिया है।

पेगासस विवाद को लेकर संसद में हंगामा लगातार जारी है। विपक्ष सरकार से सवाल कर रखा है। इन सब के बीच बृहस्पतिवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसदों और सत्तापक्ष के मंत्रियों के बीच नोकझोंक की भी खबर रही। खबरों के मुताबिक पेगासस मामले पर जब आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव बयान दे रहे थे तब तृणमूल सांसद शांतनु सेन में उनसे कागज छीन लिया और उसे फाड़ दिया। इसके बाद  केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी के साथ भी तृणमूल कांग्रेस के सांसदों की नोकझोंक हुई। इसी को लेकर मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बयान दिया है।

ANI के मुताबिक अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि TMC की बंगाल में हिंसा की संस्कृति है और वो ही संस्कृति वो संसद में लाने की कोशिश कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में भाजपा के कार्यक​र्ताओं पर जिस तरह की हिंसा की है, उसी संस्कृति को आज वो संसद में ला रहे हैं। वे अगली पीढ़ी के सांसदों को क्या संदेश देना चाहते हैं? आपको बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद शांतनु सेन को मानसून सत्र के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। दरअसल, शांतनु सेन पर आरोप है कि उन्होंने आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से उनके बयान के कागज छीन कर फाड़े थे। इसके बाद उनके खिलाफ राज्य सभा में प्रस्ताव आया। बताया गया है कि शांतनु सेन को एक दिन पहले के अशोभनीय आचरण के लिए राज्यसभा के मौजूदा सत्र में शेष समय के लिए निलंबित किया गया।