• गोरखपुर जिले की आज की बड़ी खबरें: जून से प्राइवेट में भी लगेगी वैक्सीन, Sputnik टीका भी होगा उपलब्ध

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ताउते का असर लगभग पूरे उत्तर प्रदेश में भी देखने को मिल रहा है। आज सुबह से ही यूपी के कई जिलों में मौसम का मिजाज अचानक बदल सा गया है। मौसम विभाग ने भी प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश, आंधी और ओले गिरने की चेतावनी जारी की है।

सख्त हुई गोरखपुर पुलिस, जमकर काटा जा रहा है चालान 

गोरखपुरवैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण का कहर जिस तरीके से शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों ने अपना कहर बरपा रहा है। इसको लेकर प्रदेश सरकार ने प्रदेश भर में 24 मई तक आंशिक कर्फ्यू का आदेश दिया है। इसके बावजूद भी बहुत से लोग सड़क पर बिना वजह निकल रहे है। जिसको देखते हुए जनपद भर की पुलिस दिनभर सड़कों पर उतर कर सख्ती से कड़ाई करते हुए  एमवी एक्ट में 588 वाहनों का चालान कर 375100 रू0 समन शुल्क वसूल कर 41 वाहनों को सीज कर दिया। वही क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ रत्नेश सिंह के नेतृत्व में थाना प्रभारी रामाज्ञा सिंह ने पूरे दलबल के साथ कोड़इहवा मोड़ पर बैरिकेडिंग करके सघन चेकिंग अभियान चलाया। चेकिंग के दौरान उन्ही लोगों को जाने दिया गया जिन्होंने सच्चाई से पुुुलिस के सवालों का सही जबाब दिया लेकिन जिन्होंने सही जवाब नहीं दिया उनके खिलाफ चालान की कार्रवाई की गई।

क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ रत्नेश सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि तमाम अपील के बावजूद भी लोग अभी भी बड़ी संख्या में सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। जिसको लेकर आज शाम कौड़ीहवा मोड़ पर ऐसे लोगों के खिलाफ चालान की कार्रवाई की गई जो बिना किसी जरूरत के सड़क पर सिर्फ घूमने के मूड से निकले हैं ऐसे लोगों को सख्त हिदायत दी गई है कि अगर दोबारा मिले तो उनके खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानों को बंद करने का निर्देश दिया गया था इसके बावजूद बहुत से दुकानदार लॉक डाउन का पालन करते नहीं मिले ऐसे आधा दर्जन दुकानदारों के खिलाफ कोविड-19 का उल्लंघन एवं महामारी अधिनियम के तहत गोरखनाथ थाने पर मुकदमा पंजीकृत किया गया है लोगों से अपील है कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करें आवश्यक काम पड़ने पर घर से निकले बिना वजह सड़क पर ना निकले।

इसे भी पढ़ें: NCP का सवाल, महाराष्ट्र में चक्रवात प्रभावित इलाकों का जायजा क्यों नहीं ले रहे PM?

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मरीज के परिजनों को दी जा रही यह सुविधाएं

गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती संक्रमित मरीजों के तीमारदारों को बेहतर रहने व ठहरने के लिए सुव्यवस्थित व्यवस्था उपलब्ध  कराने के लिए जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन कृत संकल्पित रहते  हुए रविवार को ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीना सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दीक्षित सहित अन्य लोगों को मेडिकल कॉलेज भेज कर कोरोना मरीजों के परिजनों को रहने व ठहरने के लिए 233 बेड के रैन बसेरे को सुव्यवस्थित तरीके से मेडिकल कॉलेज में प्रारंभ कर सराहनीय कार्य किया था। पुनः सोमवार को वीर अब्दुल हमीद पोस्ट ग्रैजुएट कॉलेज में पूरे कॉलेज को मरीजों के तीमारदारों के रहने के लिए बेहतर सुविधाओं से युक्त  ठहरने की व्यवस्था को व्यवस्थित करते हुए प्रारंभ कर दिया जिससे आए हुए मरीजों के परिजनों को ठहरने व रहने की किसी प्रकार की असुविधा ना होने पाए ।वीर अब्दुल हमीद पोस्टग्रेजुएट कॉलेज में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीना तथा सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित कानूनगो राधेश्याम शुक्ला कानूनगो प्रदुमन सिंह सहित टीम के अन्य सदस्यों ने पहुंचकर रैन बसेरा को प्रारंभ कर सराहनीय कार्य किया जिससे आए हुए मरीज के परिजनों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना होने पाए। 

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट एसडीएम सदर कुलदीप मीणा व सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित कोरोना संक्रमित मरीजों व उनके परिजनों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रयत्नशील रहते हुए प्रयास करते आ रहे हैं जिसका नतीजा सामने दिखाई भी दे रहा है चाहे देहात क्षेत्रों में रहने वाले बुखार से ग्रसित मरीजों के यहां दवा पहुंचाने का कार्य हो या ऑनलाइन आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने की व्यवस्था हो बराबर तहसील सदर प्रशासन प्रयत्नशील रहते हुए बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने में लगी हुई है कि हमारे सदर तहसील के अंतर्गत रहने वाली आम जनमानस को किसी प्रकार का दिक्कत का कोरोना काल में सामना ना करना पड़े। और उन्हें घर बैठे जरूरत की सामान्य उपलब्ध हो सके। 

 

महापौर की अध्यक्षता में नामित 10 पार्षद की बैठक, नए दिशा निर्देश हुए लागू

गोरखपुर महापौर की अध्यक्षता में अपर मुख्य सचिव नगर विकास विभाग उ0प्र0 शासन के पत्र सं0 552/नौ-7-2021-11(ज0)/2020 दिनांक 14 मई, 2021 जो पर्यावरणहित में नगरीय निकायों में हो रही मृत्यु के पश्चात उनका अन्तिम संस्कार विहित परम्परा यथा जलाने/दफनाने के अनुसार किये जाने एवं शवों को किसी भी दशा में जल में प्रवाहित न किये जाने और न ही जल समाधि दिये जाने के सम्बन्ध में समिति के अध्यक्ष सहित, संयोजक सचिव, उपाध्यक्ष कार्यकारिणी समिति, मुख्य अभियन्ता सिविल एवं महापौर द्वारा नामित 10 पार्षद के साथ बैठक हुई सभी लोग उपस्थित रहे। नगर आयुक्त द्वारा सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा गया कि शासन के दिशा निर्देश के क्रम में हम सभी मा0 पार्षद एवं अधिकारी कर्मचारी एक परिवार के रूप में कार्य करते हुए सभी नागरिकों को सुरक्षित रखते हुए शासन द्वारा दिये गये निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करायेंगे पूर्व से भी नगर निगम, गोरखपुर द्वारा सजग होकर अन्तेष्ठि स्थल पर समुचित व्यवस्था कराते हुए दाह संस्कार आदि विहित परम्परा तरीके से शवहाह कराने का कार्य किया जा रहा है शासन के निर्देश क्रम में जो कमेटी का गठन किया गया है हम सब मिलकर के और बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे। महापौर द्वारा सभी मा0 पार्षद एवं अधिकारी कर्मचारी से कहा कि जिस प्रकार नगर निगम परिवार मा0 पार्षद अधिकारी कर्मचारी मिलकर पिछले वर्ष कोरोना महामारी से महानगर को निजात दिलाया गया था इससे भी अधिक कुशलता से हम सब गठित कमेटी के सदस्य पूरी निष्ठा एवं कर्मठता के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

 

उक्त अवसर पर महापौर द्वारा उपरोक्त कमेटी के सदस्यों के सदस्यों सहित अन्य अतिरिक्त मा0 पार्षद एवं प्रतिनिधि जो क्रमशः ऋषिमोहन वर्मा, संजय श्रीवास्तव, अजय राय, मदन लाल अग्रहरि, जितेन्द्र सैनी, संजय यादव, बब्लू प्रसाद गुप्ता, आलोक सिंह ‘‘विशेन‘‘, जितेन्द्र चैधरी ‘‘जीतू‘‘, राधेश्याम रावत, अभिमन्यू मौर्य, मनु जायसवाल, अशोक यादव, अजय ओझा (प्रतिनिधि), शहाब अंसारी, अमर नाथ यादव, लोगों को स्पे्र मशीन, थर्मल स्कैनर, आक्सीमीटर, मास्क, सैनेटाइजर, ग्लब्स तथा फेस शील्ड भी मा0 महापौर जी द्वारा नगर निगम की तरफ से उपलब्ध कराया गया अन्य सभी मा0 पार्षदों को निर्देशित किया गया कि आप लोग भी आकर अथवा अपने सुपरवाइजर के माध्यम से उपरोक्त सामग्री प्राप्त कर लें साथ ही सभी को निर्देशित किया गया कि पूर्ण निष्ठा के साथ अपने-अपने वार्डो के लोगों के लिए अथक प्रयास कर कोविड-19 को दूसरे प्रकोप से निजात दिलाने में अहम भूमिका निभाएं साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि इस कार्य में लगे सभी मा0 पार्षदा कोविड-19 से संक्रमित होते है उनके ईलाज के लिए जिला प्रशासन एवं मुख्य चिकित्साधिकारी, प्राचार्य, बी0आर0डी0 मेडिकल कालेज को इस आशय को पत्र भेजा जाएगा कि विशेष रूप से ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे कि उन्हे तुरन्त एडमिट करके बेहतर ईलाज किया जाए साथ ही उनके होने वाले ईलाज पर व्यय भी नगर निगम बोर्ड की आकस्मिक बैठक में निर्णय लिया जाएगा कि उसका भुगतान भी नगर निगम द्वारा किया जाएगा। इस हेतु शासन से भी स्वीकृति प्राप्त की जाएगी। अन्त में सभी का आभार व्यक्त करते हुए बैठक समाप्त करने की घोषणा की गयी। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा का आरोप, कहा- कांग्रेस की सौम्या वर्मा ने तैयार किए टूलकिट

गोरखपुर में जून से प्राइवेट में भी लगेगी वैक्सीन, कोविशील्ड और कोवैक्सीन के साथ स्पूतनिक भी होगा उपलब्ध

गोरखपुर गोरखपुर कोरोना से बचाव का टीका लगवाने के लिए परेशान लोगों के लिए सरकार अब प्राइवेट में वैक्सीन उपलब्ध करने की तैयारी में लग गई है। उम्मीद है अगले महीने से दवा की थोक दुकानों पर कोरोना की वैक्सीन बिकने लगेगी। नर्सिंग होम संचालक कंपनियाें से सीधे स्पूतनिक, कोविशील्ड और कोवैक्सीन मंगा सकेंगे।नर्सिंग होम में एक डोज के 850 रुपये देने होंगे। यानी दो डोज के 17 सौ रुपये लगेंगे। तारामंडल स्थित शाही ग्लोबल हास्पिटल ने कोविशील्ड के लिए कंपनी को आर्डर भी दे दिया है। अगले हफ्ते टीका आने की संभावना है।

नर्सिंग होम में भी लगेगा कोरोना से बचाव का टीका, 17 सौ रुपये में लगेगी दोनों डोज- स्वास्थ्य विभाग ने नर्सिंग होम को कोरोना से बचाव का टीका देना बंद कर दिया है। अब नर्सिंग होम को टीका सीधे कंपनी या थोक में वैक्सीन बेचने वाले दुकानदारों से खरीदना पड़ेगा। दुकानदारों का कहना है कि निजी क्षेत्र में कोरोना से बचाव के टीके जून महीने में आने की उम्मीद है। पिछले महीने तक 250 रुपये में निजी अस्पतालों में लग रहा था बचाव का टीका-16 जनवरी को कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण महाअभियान शुरू किया गया है। पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर को टीका लगाया गया था। इसके बाद बुजुर्गों और 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के बीमार लोगों को टीका लगाया गया। इस बीच लोगों की सहूलियत के लिए शासन ने कुछ नर्सिंग होम में भी टीकाकरण की व्यवस्था करा दी।प्रति टीका 250 रुपये निर्धारित किए गए थे। बाद में टीका कम आना हुआ तो धीरे-धीरे नर्सिंग होम की संख्या कम कर दी गई। अब नर्सिंग होम को टीका देने पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा सुधाकर पांडेय ने बताया कि आने वाले दिनों में नर्सिंग होम संचालक कंपनियों से सीधे संपर्क कर टीका मंगवा सकेंगे। टीकाकरण की पूरी व्यवस्था पर स्वास्थ्य विभाग की नजर रहेगी। सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण और तेज किया जा रहा है।

 

स्पूतनिक भी आएगी-दवा विक्रेता समिति के अध्यक्ष योगेंद्र नाथ दुबे ने बताया कि राष्ट्रीय नेतृत्व टीके की उपलब्धता पर नजर रखे है। अगले महीने कोविशील्ड और कोवैक्सीन के साथ ही रूस में निर्मित स्पूतनिक वैक्सीन भी आने की उम्मीद है।शहर में टीका बेचने वाले व्यापारियों के पास पर्याप्त टीका रखने की जगह है। साथ ही कोल्ड चेन मेंटेन करने की भी अच्छी व्यवस्था है। स्पूतनिक टीके के एक डोज की कीमत जीएसटी सहित 995 रुपये है।अगले सप्ताह लगेगा टीकाशाही ग्लोबल हास्पिटल के डायरेक्टर डा. शिवशंकर शाही ने बताया कि कोरोना से बचाव का टीका कोविशील्ड उनके अस्पताल पर अगले सप्ताह आ जाएगा। सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया ने अस्पताल में टीकाकरण की अनुमति दे दी है।सोमवार को कंपनी के खाते में रुपये भेज दिए जाएंगे। कहा कि टीके के एक डोज की कीमत 850 रुपये है। दोनों डोज 17 सौ रुपये में लगेंगे। कहा कि अस्पताल में कोल्ड चेन मेंटेन करने की पूरी व्यवस्था है।टीके की बुकिंग शुरू हो गई है। एक डोज लगवाने वालों का बचा हुए एक डोज बुक किया जा रहा है।युवाओं के लिए आ रही 39 हजार डोजसीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि 18 से 44 वर्ष तक के युवाओं के लिए 39 हजार डोज टीका आ रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम टीका ले आने के लिए लखनऊ जा चुकी है। 45 वर्ष से ज्यादा आयु वालों के लिए 19 हजार डोज टीका आ रहा है। जिले में अभी 15 हजार से ज्यादा डोज का स्टाक है। सोमवार से टीकाकरण में तेजी आएगी। 

 

आंधी पानी से ठप थी छः दिन से विद्युत सप्लाई, बिजली आयी तो जल गए घरों में लगे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण

गोरखपुर गोला बाजार गोरखपुर गोला उपनगर के विसरा गाँव में विगत छह दिनों के बाद रविवार को आपुर्ति शुरू हुई तो लोगों के घरों मे हाई वोल्टेज का करंट दौड़ गया और तेज आवाज के साथ कई घरों के इलेक्ट्रिक उपकरण पूरी तरह जल गए। वही एक घर में तार जलने से आग पकड़ ली। किसी प्रकार लोगों ने उस पर काबू तो पा लिया लेकिन लोगों का काफी नुकसान हुआ है।प्राप्त जानकारी के अनुसार बिसरा गाँव के यादव व निषाद टोले के लिए एक अलग ट्रांसफार्मर लगाया गया है। पांच दिन पहले आई आंधी में फाल्ट होने से आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई थी। जिससे गाँव मे अंधेरा छाया हुआ था। वही लोग गर्मी से बेहाल थे। कई बार शिकायत दर्ज कराने के बाद भी कोई असर नहीं हुआ तो लाइनमैन ने रुपये की मांग की। ग्रामीणों ने रूपये दिए तो छठे दिन लाइनमैन ने फाल्ट ठीक कर आपूर्ति शुरू कर दी। दो घंटे चलने के बाद अचानक हाई वोल्टेज का करंट लोगों के घरों में दौड़ गया। बताया जाता है कि वोल्टेज इतना अधिक बढ़ गया कि घर में जो भी उपकरण थे। धड़ाधड़ एक के बाद एक जल गए। कई लोगोंं के मोटर, पंखा, टीवी, कुलर, मोबाइल आदि सहित काफी सामान जल गए है।  

गाँव के जयप्रकाश, रामहरी, रामसरन, ओमप्रकाश शर्मा, रामसकल, श्रीकांत आदि का कहना है छह दिन से हम लोगों की बिजली खराब थी। किसी प्रकार लाइनमैन ने एक हजार रूपये लिए तो रविवार को गाँव पहुँच कर गलत तरीके से ट्रांसफार्मर का तार जोड़ दिया। जिससे वोल्टेज काफी बढ़ गया। जिससे करीब 25 घरों के लोगों का भारी नुकसान हुआ है। इस संबंध मे जेई शिवशंकर प्रसाद गौड़ का कहना है कि जानकारी मिली है। गाँव मे लाइनमैन भेजा गया है। अन्य के बारे में जानकारी नही है। फाल्ट ठीक करा दिया जाएगा। 

 

इन निजी पैथालॉजी सेंटरों को चिन्हित कर कड़ी कार्यवाही करने का मंडलायुक्त ने दिया निर्देश, जाने क्या है कारण

गोरखपुर गोरखपुर शासन द्वारा गोरखपुर जनपद हेतु नामित नोडल अधिकारी मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर ने आयुक्त सभागार में जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन, एसएसपी दिनेश कुमार, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, अपर निदेशक स्वास्थ्य, प्रधानाचार्य बीआरडी मेडिकल कालेज, अपर जिलाधिकारी गण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं अन्य अधिकारियों के साथ कोविड-19 संक्रमण से बचाव, कोविड टेस्ट, कान्टैक्ट ट्रेसिंग, निगरानी समितियों की सक्रियता, आर0आर0टी0 टीम द्वारा होम आइसोलेशन में रखे गये मरीजों की जांच एवं मेडिसिन किट वितरण आदि के सम्बन्ध में बैठक की गयी।

नोडल अधिकारी/मण्डलायुक्त द्वारा निर्देश दिया कि प्राईवेट पैथालोजी द्वारा जांच मे पाजीटिव पाये गये कोविड-19 के मरीजो की सूचना समय से उपलब्ध नही करा रहे है, जिससे कि संक्रमितों की संख्या बढ़ जाती है, अतः ऐसे प्राइवेट लैब्स को चिन्हित कर उनके विरूद्ध तत्काल कडी कार्यवाही सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिये किये जा रहे कार्यो मे लापरवाही को क्षम्य नही है। जिस विकास खण्ड क्षेत्र मे पाजीटिविटी रेट अधिक है, वहाॅ कैम्प लगाकर कोविड-19 की जांच करायी जाये एवं निगरानी समिति को और प्रभावी किया जाये साथ ही निगरानी समिति मे पंचायत सेके्रटरी, राजस्व कर्मचारियों के साथ आगनबाडी कार्यकत्री एव बीट सिपाही को भी शामिल किया जाये।

कुपोषित और टीबी से प्रभावित बच्चो के माता पिता का तत्काल कोविड वैक्सीनेशन कराये - मण्डलायुक्त

गोरखपुर मण्डलायुक्त ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि बाल विकास विभाग द्वारा चिन्हित कुपोषित बच्चों, जेई/एईएस एवं टीबी से प्रभावित बच्चो के माता पिता का तत्काल कोविड वैक्सीनेशन कराये जाने हेतु कार्य योजना बनाकर प्राथमिकता पर उनका वैक्सीनेशन कराया जाये। उन्होने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि वे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से समन्वय करके वैक्सीनेशन केन्दो पर सुरक्षा हेतु पुलिस बल की उपलब्धता सुनिश्चित कराये। उन्होंने कहा कि आरआरटी की टीमें अनिवार्य रूप से होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितो की विजिट/जांच करे और कोई विजिट पेन्डिग न रहे। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि वे प्रतिदिन अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारियों एवं चिकित्सा अधीक्षकों के साथ बैठक करके कार्यों की समीक्षा करें साथ ही एलटी/एल वार कोविड-19 के जांच की भी समीक्षा करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जांच स्थल पर पॉजिटिव पाए गए मरीज को तत्काल ही मेडिसिन किट उपलब्ध करा दिया जाये। मण्डलायुक्त ने सैम्पल टेस्टिंग में पाजिटिव पाये गये मरीजों के सम्पर्क में आये लोगों कि कान्टैक्ट ट्रेसिंग को और बेहतर करने और डोर टू डोर सर्वे मे चिन्हित लक्षण वाले व्यक्तियो की जांच समय से कराने के निर्देश दिये। उन्होने आईसीसीसी को और प्रभावी बनाने के साथ ही होम आईसोलेशन की सूची प्रतिदिन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को उपलबध कराने का निर्देश दिया जिससे पुलिस विभाग द्वारा भी उनसे सम्पर्क कर उनके स्वास्थ्य आदि के बारे मे जानकारी किया जा सके और आवश्यकता होने पर उन्हें मदद दी जा सके।मण्डलायुक्त ने प्रधानाचार्य बीआरडी मेडिकल कॉलेज को निर्देश दिया पोस्ट कोविड मरीजों के इलाज के लिये तत्काल अलग वार्ड बनाया जाए। उन्होंने बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मरीजों के परिजनों को रहने हेतु व्यवस्था बनाने का भी निर्देश दिया। 

 

कोतवाली पुलिस ने फर्जी इंस्टाग्राम ID बनाकर फोटो, अश्लील पोस्ट कर ब्लैकमेल करने वाले 2 लोगों को किया गिरफ्तार

गोरखपुर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी  के कुशल निर्देशन व पुलिस अधीक्षक अपराध डॉक्टर महेंद्र पाल सिंह क्षेत्राधिकारी अपराध बी पी सिंह एवं क्षेत्राधिकारी कोतवाली विमल कुमार सिंह के पर्यवेक्षण में सोशल मीडिया के माध्यम से आपत्तिजनक/ अश्लील टिप्पणी व फोटो पोस्ट करने वालों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में साइबर सेल टीम को लगाया गया था। जिसके क्रम मे लड़के की फर्जी इंस्टाग्राम आई0डी0 बनाकर फोटो व आपत्तिजनक/अश्लील टिप्पणी/ मैसेज कर ब्लैकमेल करने, रूपये मांगने वाले 02  अभियुक्तगण हिमांशु गुप्ता पुत्र सुभाष गुप्ता निवासी निजामपुर थाना कोतवाली जनपद गोरखपुर। अर्पित बरनवाल पुत्र स्व0 जय प्रकाश बरनवाल निवासी लालडिग्गी, हसनगंज थाना राजघाट जनपद गोरखपुर को साइबर सेल की मदद से घटना में प्रयुक्त मोबाइल व सिम के साथ थाना कोतवाली की पुलिस टीम द्वारा पुलिस अभिरक्षा में लिया गया, जिसके सम्बन्ध में थाना राजघाट में मु0अ0सं0 116/21 धारा 504/507 भादवि0 व 66 डी/ 67 आई0टी0 एक्ट पंजीकृत है। 

सोशल मीडिया के माध्यम से वादी व युवती (महिला मित्र) की फोटो प्राप्त कर फर्जी इन्सटाग्राम आई0डी0 बनाकर वादी व युवती (महिला मित्र) को बदनाम व युवती (महिला मित्र) से दोस्ती करने की नियत से आपत्तिजनक/ अश्लील टिप्पणी / मैसेज कर ब्लैकमेल करने, रूपये की मांग करना। गिरफ्तार करने वालों में प्रमुख रूप से प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कल्याण सिंह सागर थे मय टीम उ0नि प्रभारी साइबर क्राइम सेल महेश कुमार चौबे, आरक्षी शशिशंकर राय, साइबर क्राइम सेल आरक्षी शशिकान्त जायसवाल साइबर क्राइम सेल की अहम भूमिका रही पुलिस अधीक्षक अपराध डॉ महेंद्र पाल सिंह ने अपराध शाखा कार्यालय में प्रेस वार्ता कर उपरोक्त जानकारी दी। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा का आरोप, कहा- कांग्रेस की सौम्या वर्मा ने तैयार किए टूलकिट

यूपी में तूफान ताउते के चलते ऑरेंज अलर्ट जारी, इन जिलों में अगले 3 दिनों तक भारी बारिश

लखनऊ। अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ताउते का असर लगभग पूरे उत्तर प्रदेश में भी देखने को मिल रहा है। आज सुबह से ही यूपी के कई जिलों में मौसम का मिजाज अचानक बदल सा गया है। मौसम विभाग ने भी प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश, आंधी और ओले गिरने की चेतावनी जारी की है।लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर, इटावा, लखीमपुरखीरी, कानपुर, गोंडा, बहराइच, बस्ती, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, सहारनपुर, हाथरस, फिरोजाबाद, बदायूं, अलीगढ़, कासगंज, मथुरा, टूंडला, आगरा और एटा सहित यूपी के ज्यादातर हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट है। इस दौरान 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ आंधी और कुछ स्थानों पर ओले गिरने की भी संभावना है। इन सभी क्षेत्रों में मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। वहीं मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक 19 मई और 20 मई को मानसून से पहले की सबसे भारी बारिश हो सकती है।

-अगले दो-तीन दिनों तक बदला रहेगा मौसम

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ यानी वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) के चलते भी अगले दो-तीन दिनों तक उत्तर प्रदेश की मौसमी गतिविधियों में बदलाव होने की उम्मीद है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक आज (मंगलवार) यूपी के कई जिलों में बारिश हो सकती है। IMD ने लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर, इटावा, लखीमपुरखीरी, कानपुर, गोंडा, बहराइच, बस्ती, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, सहारनपुर, हाथरस, फिरोजाबाद, बदायूं, अलीगढ़, कासगंज, मथुरा, टूंडला, आगरा और एटा सहित अलग-अलग स्थानों पर हल्की से भारी बारिश होने का पूर्वानुमान बताया है।मौसम विभाग के अनुसार वेस्ट यूपी के लगभग सभी हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट (Rain Alert) है। इस दौरान 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ आंधी की उम्मीद है।

-किसानों के लिए भी अलर्ट

इसके साथ ही मौसम विभाग ने किसानों को अलर्ट जारी किया है कि कटी फसल को इकट्ठा कर लें। वहीं तेज बारिश में पेड़ों के नीचे खड़े होने से मना किया है। मंगलवार, बुुधवार और गुरुवार को 15-20 मिमी तक बारिश हो सकती है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, चक्रवाती तूफान ताउते के असर से यूपी के अलग-अलग जिलों में तेज बारिश होगी।