नरेंद्र सिंह तोमर ने ICMR से NPR की मदद से कृषि क्षेत्र को अधिक रोजगारोन्मुख बनाने को कहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 28, 2021   09:49
नरेंद्र सिंह तोमर ने ICMR से NPR की मदद से कृषि क्षेत्र को अधिक रोजगारोन्मुख बनाने को कहा

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र को नई शिक्षा नीति की मदद से अधिक रोजगारोन्मुख बनाने की जरूरत है।

नयी दिल्ली। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) से नयी शिक्षा नीति (एनईपी) की मदद से कृषि क्षेत्र को अधिक रोजगारोन्मुख बनाने को कहा है। आईसीएआर की स्थापना 1929 में हुई थी। यह देश के कृषि क्षेत्र में शोध एवं शिक्षा में संयोजन, निर्देशन और प्रबंधन का शीर्ष निकाय है। 101 आईसीएआर संस्थानों और 71 कृषि विश्वविद्यालयों के जरिये यह कृषि पाठ्यक्रमों की पेशकश करती है। आईसीएआर ने कृषि शिक्षा को एनईपी के अनुरूप बनाने के तरीके सुझाने को छह सदस्यीय समिति का गठन किया है। 

इसे भी पढ़ें: किसान और कृषि दोनों के हितों के लिए प्रतिबद्ध है मोदी सरकार: नरेंद्र सिंह तोमर 

आईसीएआर की 92वीं सालाना आम बैठक को संबोधित करते हुए तोमर ने परिषद और कृषि विश्वविद्यालयों के योगदान पर जोर दिया। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र को नई शिक्षा नीति की मदद से अधिक रोजगारोन्मुख बनाने की जरूरत है। कृषि वैज्ञानिकों के योगदान की सराहना करते हुए मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय में परिषद ने विभिन्न जरूरी खाद्य फसलों के उत्पादन में वृद्धि के जरिये अपनी उपयोगिता को दिखाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।