त्रिपुरा के CM बने रहेंगे माणिक साहा, उपचुनाव में कांग्रेस के आशीष साहा को दी मात

Manik Saha
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने टाउन बारदोवली सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार आशीष साहा को मात दी। इस सीट पर 69 वर्षीय माणिक साहा का मुकाबला पांच उम्मीदवारों से था, जिन्हें उन्होंने परास्त कर दिया। आपको बता दें कि त्रिपुरा के टाउन बारदोवली सीट के लिए 23 जून को वोट डाले गए थे।

अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने टाउन बारदोवली सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार आशीष साहा को मात दी। इस दौरान माणिक साहा की जीत का अंतर 6,104 वोटों का रहा। निर्वाचन आयोग के मुताबिक, माणिक साहा को 17,181 वोट मिले, जो कुल वोट का 51.63 फीसदी है। 

इसे भी पढ़ें: राजिंदर नगर उपचुनाव: पांचवें दौर की मतगणना के बाद भाजपा उम्मीदवार एक हज़ार मतों से पीछे 

इस सीट पर 69 वर्षीय माणिक साहा का मुकाबला पांच उम्मीदवारों से था, जिन्हें उन्होंने परास्त कर दिया। आपको बता दें कि त्रिपुरा के टाउन बारदोवली सीट के लिए 23 जून को वोट डाले गए थे। जिसके नतीजे सामने आने के बाद भाजपा की प्रदेश इकाई में जश्न का माहौल है। इसी के साथ ही माणिक साहा की कुर्सी भी सुरक्षित है। क्योंकि उपचुनाव में उनका विजयी होना बेहद आवश्यक था। 

इसे भी पढ़ें: संगरूर उपचुनाव: शुरुआती रुझान में शिअद अमृतसर गुट के नेता सिमरनजीत मान आगे 

कौन हैं माणिक साहा ?

माणिक साहा पूर्वोत्तर से कांग्रेस के ऐसे चौथे पूर्व नेता हैं जो भाजपा में शामिल होने के बाद मुख्यमंत्री बने। इस लिस्ट में असम के हिमंत बिस्व सरमा, अरुणाचल प्रदेश के पेमा खांडू और मणिपुर के एन बीरेन सिंह शामिल हैं जो पहले कांग्रेस में थे और उनकी भाजपा में आने के बाद ताजपोशी हुई। माणिक साहा ने साल 2016 में कांग्रेस को अलविदा कहते हुए भाजपा का दामन थाम लिया था। इसके बाद पार्टी ने उन्हें साल 2020 में भाजपा प्रदेश प्रमुख बनाया और इस साल मार्च में उन्हें राज्यसभा के लिए चुना गया और फिर मई में बिप्लब देव को हटाकर भाजपा ने उन्हें प्रदेश की कमान सौंप दी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़