ट्विटर ने लिया पाकिस्तानी अकाउंट पर एक्शन, भारत के खिलाफ फैला रहे थे नफरत

twitter
Google common license
निधि अविनाश । Jun 28, 2022 9:06AM
भारत ने विश्व मंच पर भारत के खिलाफ फर्जी दुष्प्रचार करने के लिए पाकिस्तान की तीखी आलोचना की है। इससे पहले भी, भारत के खिलाफ प्रचार करने के लिए कई सोशल मीडिया अकाउंट्स को ब्लॉक/सस्पेंड कर दिया गया था।

भारत में पाकिस्तान के चार दूतावासों के ट्विटर खातों को बंद कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के तुर्की, संयुक्त राष्ट्र, ईरान और मिस्त्र स्थित दूतावासों के अकाउंट पर ये कार्रवाई की गई है। इसके अलावा ट्विटर ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय प्रसारक रेडियो पाकिस्तान का अकाउंट भी बंद कर दिया।

भारत में ट्विटर द्वारा इन हैंडल पर प्रतिबंध लगाने के बाद, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय (MoFA) ने ट्विटर से तत्काल प्रभाव से हैंडल तक पहुंच बहाल करने का आग्रह किया है। भारत में ट्विटर की कार्रवाई ऐसे समय में आई है जब भारतीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने भारत विरोधी सामग्री फैलाने और भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित गलत सूचना फैलाने के लिए छह पाकिस्तानी चैनलों सहित 16 यूट्युब चैनलों को ब्लॉक कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र संकट के बीच शिवसेना के बागी विधायकों पर संजय राउत का ट्विट, कहा- जहालत एक किस्म की मौत

मंत्रालय ने कहा कि हैंडल 'भारत में दहशत पैदा करने, सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए झूठी, असत्यापित जानकारी फैला रहे थे। एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, 10 भारतीय यूट्यूब चैनल और छह पाकिस्तानी चैनलों की सामूहिक दर्शकों की संख्या 68 करोड़ थी। उन्होंने कथित तौर पर सरकार द्वारा निर्धारित दिशानिर्देशों का भी उल्लंघन किया, जो कि आईटी नियम, 2021 के तहत आवश्यक है।सरकार ने कहा, "पाकिस्तान में स्थित YouTube चैनलों को भारतीय सेना, जम्मू और कश्मीर जैसे विभिन्न विषयों पर भारत के बारे में फर्जी खबरें पोस्ट करने के लिए गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया था।

इसे भी पढ़ें: CM Yogi से मिले केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, विधानसभा चुनाव को लेकर की चर्चा

भारत ने विश्व मंच पर भारत के खिलाफ फर्जी दुष्प्रचार करने के लिए पाकिस्तान की तीखी आलोचना की है। इससे पहले भी, भारत के खिलाफ प्रचार करने के लिए कई सोशल मीडिया अकाउंट्स को ब्लॉक/सस्पेंड कर दिया गया था। भारत सरकार के दावों के अलावा, डिजिटल फोरेंसिक, रिसर्च एंड एनालिटिक्स सेंटर (DFRAC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, कई पाकिस्तानी अकाउंट कई भारतीय संस्थानों के खिलाफ प्रचार कर रहे थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़