कर्नाटक हिजाब विवाद : छात्राएं अपनी मांग पर अड़ीं

Hijab
उडुपी में बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से बातचीत में छात्राओं ने कहा, ‘हिजाब पहनना उनका संवैधानिक अधिकार है। ऑनलाइन कक्षा में शामिल होने का सुझाव देना ‘भेदभावपूर्ण’ है और वे इसके लिए तैयार नहीं हैं।’

मेंगलुरु| कर्नाटक के उडुपी जिले स्थित पीयू कॉलेज की छह छात्राओं ने कॉलेज विकास समिति के उस सुझाव को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि अगर वे कक्षा में हिजाब पहनने के फैसले पर अडिग हैं तो ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प चुनें।

कॉलेज प्राधिकारियों द्वारा कक्षा में हिजाब पहनने की इजाजत न दिए जाने के विरोध में छात्राएं पिछले चार हफ्ते से कक्षाओं का बहिष्कार कर रही हैं।

उडुपी में बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से बातचीत में छात्राओं ने कहा, ‘हिजाब पहनना उनका संवैधानिक अधिकार है। ऑनलाइन कक्षा में शामिल होने का सुझाव देना ‘भेदभावपूर्ण’ है और वे इसके लिए तैयार नहीं हैं।’

छात्राओं ने दावा किया कि बिना हिजाब के कक्षा में शामिल होने वाली समुदाय की अन्य छात्राएं समस्याओं में घिरने के डर से विरोध नहीं जता रही हैं। उन्होने कहाकि शिक्षा और अधिकार दोनों समान रूप से महत्वपूर्ण हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़