यूक्रेन के राजदूत ने भारत से मांगी मदद, कहा- पुतिन से संपर्क करें प्रधानमंत्री मोदी

यूक्रेन के राजदूत ने भारत से मांगी मदद, कहा- पुतिन से संपर्क करें प्रधानमंत्री मोदी

यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलखा ने कहा कि, भारत और रूस के संबंध काफी अच्छे हैं और इसलिए भारत यूक्रेन और रूस विवाद को काबू करने में अहम योगदान दे सकता है। हम पीएम मोदी से गुजारिश करते हैं कि, वह तत्काल रूस के राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की से संपर्क करें।

रूस के हमलों के बीच यूक्रेन ने भारत से मदद की अपील की है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के राजदूत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से हस्तक्षेप करने की मदद मांगी है। यूक्रेन के राजदूत  इगोर पोलखा ने कहा कि, भारत और रूस के संबंध काफी अच्छे हैं और इसलिए भारत यूक्रेन और रूस विवाद को काबू करने में अहम योगदान दे सकता है। हम पीएम मोदी से गुजारिश करते हैं कि, वह तत्काल रूस के राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की से संपर्क करें। आपको बता दें कि, यूक्रेन-रूस विवाद पर भारत न ही युद्द और न ही गतिरोध में किसी की तरफ है। भारत इस विवाद में हमेशा से न्यूट्रल रहा है और शांतिपूर्ण समझौते और बातचीत से मसले को हल करने की कोशिश करने को कहा है। 

इसे भी पढ़ें: रूस-यूक्रेन की सैन्य ताकत कैसी और कितनी है? आंकड़ों से समझें कौन किस पर पड़ेगा भारी

वहीं ,यूक्रेन में बिगड़ते हालात के बीच वहां रह रहे मौजूदा लोगों के लिए नई एडवाइजरी जारी की है जिसमें साफ कहा गया है कि, अभी स्थिति काफी खरबा है और ऐसे में जहां है वहीं रहें। लोग अपने घरों, हॉस्टल में ही रुके रहे। साथ में यह भी कहा गया है कि, लोग यूक्रेन की राजधानी कीव की तरफ गए हैं तो वापस अपने घर की ओर लौट जाएं। इसके साथ ही भारत सरकार की तरफ से वहां फंसे भारतीयों की मदद के लिए भारत सरकार ने 24 घंटे की हेल्पलाइन शुरू की है। ताजा हालात की वजह से भारतीयों को स्वदेश लाने यूक्रेन जा रही एयर इंडिया की एक फ्लाइट भी दिल्ली लौट रही है।

विदेश मंत्रालय द्वारा नियंत्रण कक्ष का विवरण नीचे दिया गया है:- 

800118797 (टोल फ्री)

फ़ोन: +91 11 23012113, +91 11 23014104, +91 11 23017905

फैक्स: +91 11 23088124

ईमेल: [email protected]

द्वारा विज्ञापन

यूक्रेन में 24x7 आपातकालीन हेल्पलाइन: +380 9997300428, +380 997300483

Website: eoiukraine.gov.in





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।