केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने की मांग, पत्रकारों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना लाए सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   12:46
केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने की मांग, पत्रकारों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना लाए सरकार

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग राज्य मंत्री सारंगी ने कहा, ‘‘इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने हमारे निडर पत्रकारों की भावना पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है, जिनके लिए यह सबसे खराब और खतरनाक किस्म का पेशेवर खतरा है।’’ उन्होंने कहा कि जिन लोगों को घातक वायरस से संक्रमित पाया गया है, उन्हें ड्यूटी से अनुपस्थित रहने के दौरान नौकरी की सुरक्षा और वेतन दिए जाने के अलावा गुणवत्तापूर्ण इलाज मुहैया कराया जाना चाहिए।

भुवनेश्वर। मुंबई में बड़ी संख्या में पत्रकारों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने पर चिंता व्यक्त करते हुए, केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से आग्रह किया कि वे कोरोना वायरस से निपटने में अग्रिम मोर्चे पर डटे स्वास्थ्य कर्मियों के समान महामारी को कवर करने वाले पत्रकारों के लिए भी एक स्वास्थ्य बीमा योजना लाएं। सारंगी ने केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को लिखे एक पत्र में कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में, चेन्नई, भोपाल और अन्य स्थानों में भी कई पत्रकारों को संक्रमित पाया गया है।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा में एक और व्यक्ति संक्रमित पाया गया, कुल मामले बढ़कर 90 हुए

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग राज्य मंत्री सारंगी ने कहा, ‘‘इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने हमारे निडर पत्रकारों की भावना पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है, जिनके लिए यह सबसे खराब और खतरनाक किस्म का पेशेवर खतरा है।’’ उन्होंने कहा कि जिन लोगों को घातक वायरस से संक्रमित पाया गया है, उन्हें ड्यूटी से अनुपस्थित रहने के दौरान नौकरी की सुरक्षा और वेतन दिए जाने के अलावा गुणवत्तापूर्ण इलाज मुहैया कराया जाना चाहिए। सारंगी ने जावड़ेकर को लिखे पत्र में कहा, ‘‘स्वास्थ्य कर्मियों की तर्ज पर सरकार को पत्रकारों के लिए भी स्वास्थ्य बीमा योजना का प्रावधान करना चाहिए।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना संकट में गौतम गंभीर ने पेश की इंसानियत की मिसाल, महिला का किया अंतिम संस्कार

उन्होंने केंद्र सरकार से महामारी को कवर करने वाले सभी क्षेत्र के पत्रकारों के लिए विशेष दिशानिर्देश लाने की भी अपील की। सारंगी ने कहा, ‘‘यह अधिक महत्वपूर्ण है कि वे स्वतंत्र रूप से और सच्चाई से अपने कर्तव्य का निर्वहन कर पाएं, जिससे कि हमारे लोगों को महत्वपूर्ण और समय पर जानकारी मिल सके। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने बुधवार को प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए एक परामर्श जारी किया था, जिसमें पत्रकारों से कोरोना वायरस से संबंधित घटनाओं को कवर करने के दौरान सावधानी बरतने का आग्रह किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।